मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रायपुर, नईदुनिया, राज्य ब्यूरो। भाजपा सरकार में मंत्री व संसदीय सचिव रहे नेताओं को सरकार ने बंगाला खाली करने का नोटिस जारी किया है। निगम- मंडल और आयोग के अध्यक्ष व सदस्यों को भी बंगला खाली करने के लिए कहा गया है। अफसरों के अनुसार निर्वाचित जनप्रतिनिधियों से सरकारी वाहन पहले ही वापस ले लिए गए थे। ऐसे में अब केवल सरकारी बंगला ही उनके पास रह गया है। उसे भी खाली कराने की कवायद शुरू कर दी गई है।

राज्य में मुख्यमंत्री समेत 13 मंत्री और 11 संसदीय सचिव हैं। वहीं भाजपा के कई पूर्व विधायक जो निगम मंडल में रहे हैं उन्हें भी यहां सरकारी बंगला दिया गया है। कुछ लोग तो 15 वर्ष से सरकारी बंगले में जमे हुए हैं। अब उनसे बंगला खाली कराया जा रहा है। हालांकि ज्यादार मंत्रियों ने बंगला खाली करना शुरू भी कर दिया है। संपदा विभाग के सूत्रों के अनुसार कुछ मंत्रियों ने पत्र लिखकर मोहलत मांगी है।

वाहन पर एनओसी का रोड़ा

अफसरों ने बताया कि इस बार चुनाव आयोग ने चुनाव से पहले सरकारी वाहन वापस करना अनिवार्य कर दिया था। सरकारी वाहन का उपयोग करने वालों से स्टेट गैरेज की एनओसी मांगी गई थी। इस वजह से सभी जनप्रतिनिधियों को चुनाव से पहले ही वाहन वापस करना पड़ा। सुरक्षा कारणों से डॉ. रमन सिंह को इस दायरे से बाहर रखा गया था।

Posted By: Rahul.vavikar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप