रायपुर, नईदुनिया, राज्य ब्यूरो। छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित सीडी कांड के मुख्य आरोपित पार्टी से निष्कासित भाजपा नेता कैलाश मुरारका ने बुवार को कोर्ट में सरेंडर किया। अदालत ने एक लाख के मुचलके पर उन्हें जमानत दे दी। जमानत मिलने के बाद मुरारका ने मीडिया के सामने मुंह खोला। मुरारका ने कहा कि सीडी बनवाने में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल की कोई भूमिका नहीं है। इस मामले में आरोपित बनाए गए भूपेश बघेल पाक साफ हैं। कौन दोषी है, सब बातें वह कोर्ट में बताएंगे। मुरारका ने इशारों में ही सीडी कांड में गवाह बनाए गए एक रसूखदार के खिलाफ भी जहर उगला।

मुरारका ने मीडिया से चर्चा में कहा कि वे उन पर विश्वास करते थे, उनके दरबार को राम का दरबार मानते थे, लेकिन उन्हें नहीं पता था कि उनके साथ ऐसा किया जाएगा। सीडी कांड में भूपेश बघेल पूरी तरह निर्दोष हैं। उन पर चलाया जा रहा मुकदमा झूठा है। मुरारका ने कहा कि मंत्री राजेश मूणत मेरे भाई हैं। भाजपा से निष्कासन पर मुरारका ने कहा कि वो भाजपा के सदस्य हैं और भाजपा के सदस्य रहेंगे। उन्हें कोई भाजपा से निकाल नहीं सकता। मुरारका ने कहा कि उन्हें न्यायालय पर पूरा भरोसा है और न्यायालय ने उन्हें जमानत दी है। आगे जब भी कोर्ट उन्हें बुलाएगा, वह जरूर हाजिर होंगे और अपनी बातों को रखेंगे।

मुरारका के बयान से भाजपा का कोई लेना नहीं

कैलाश मुरारका के बयान के बाद भाजपा ने प्रतिक्रिया दी है। प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि कैलाश मुरारका के बयान से पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है। मुरारका को पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। वहीं, कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि कैलाश मुरारका के बयान के बाद साफ हो गया है कि सीडी बनवाने में भूपेश बघेल का कोई लेना-देना नहीं है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस