रायपुर। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री रमन सिंह की सत्ता जाते ही उनके प्रमुख सचिव और राज्य में सुपर सीएम का दर्जा रखने वाले अमन सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। अमन सिंह पिछले 13 साल से संविदा पर नियुक्त थे, हालांकि उनका जलवा इतना था कि वरिष्ठ आईएएस अफसरों से लेकर राज्य सरकार के वरिष्ठ पदों पर बैठे नेता तक उनसे खौफ खाते थे।

अमन सिंह का संविदा कार्यकाल 17 दिसंबर को खत्म हो रहा था। अगर भाजपा जीतती तो रमन सिंह फिर सीएम होते और अमन का कार्यकाल फिर एक बार बढ़ जाता, लेकिन इस बार जनता बदलाव के मूड में थी और ऐसा बदलाव किया कि बड़े-बड़े स्तंभ धराशाई हो गए।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के इस्तीफा देने के बाद अब उनके करीबी अफसरों के इस्तीफों की झड़ी लग गई है। अमन सिंह के अलावा सीएसआइडीसी के चेयरमेन छगन मूंदड़ा के भी इस्तीफे की खबर है। इससे पहले राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष सुनील कुमार का इस्तीफा हो चुका है।

मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में पदस्थ कई अफसर इस्तीफा देने की कतार में हैं। इनमें से कई ऐसे हैं जो सरकारी नौकरी से इस्तीफा देकर पिछले कई साल से मुख्यमंत्री के साथ संविदा पर काम कर रहे थे। विक्रम सिसोदिया, अरूण बिसेन, विवेक सक्सेना जैसे अधिकारी इस्तीफा देते ही राजनीतिक पदों पर बैठे विभिन्न निगम व मंडलों के अध्यक्षों का इस्तीफा भी जल्द हो जाएगा।

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति आज, शामिल होंगे धरमलाल

भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक गुरुवार को दिल्ली में आयोजित है। बैठक में छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक भी शामिल करेंगे। बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में विधानसभा चुनावों में मिली हार के कारणों की समीक्षा भी होगी।

Posted By: Sandeep Chourey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस