नई दिल्ली, जेएनएन। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों के रुझान सामने आने लगे हैं। इसके साथ ही राज्य की भाजपा सरकार की चिंता बढ़ गई है। साथ ही ये सवा खड़ा होने लगा है कि क्या छत्तीसगढ़ में 15 साल बाद रमन सरकार सत्ता से बाहर हो जाएगी? मतगणना की वर्तमान स्थिति कुछ ऐसा ही संकेत कर रही है। इसके अनुसार सत्ता की पिच पर हैट्रिक लगाने के बाद रमन सिंह का विकेट खतरे में है।

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव की 10:10 बजे तक की मतगणना के रुझानों के अनुसार भाजपा को भारी झटका लगा है। 90 विधानसभा सीटों वाले इस राज्य में भाजपा मात्र 24 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस 59 सीटों पर आगे है। शेष सात सीटों पर अन्य ने बढ़त हासिल की हुई है।

शुरूआती रुझान में भाजपा और कांग्रेस में टक्कर दिख रही थी, लेकिन दो घंटे की मतगणना के बाद मुकाबला एकतरफा होता दिख रहा है। अंतिम नतीजों तक कोई बड़ा उलटफेर नहीं हुआ तो कांग्रेस रमन सिंह को सत्ता से बाहर कर छत्तीसगढ़ में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाती नजर आ रही है। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में कुल 90 सीटों पर कुल 1257 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला थोड़ी देर में हो जाएगा।

छत्तीसगढ़ चुनाव से ठीक पहले तक भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियां राज्य में सरकार बनाने का दावा कर चुकी हैं। चुनावों के बाद एग्जिट पोल में यहां दोनों पार्टियों के बीच कांटे की टक्कर बताई गई थी। हालांकि अब तक रुझान मुकाबला एक तरफा होता दिखा रहे हैं।

पूर्व सीएम अजीत जोगी तीसरे नंबर पर
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ पार्टी के उम्मीदवार व राज्य के पूर्व सीएम अजीत जोगी, मरवाही सीट पर तीसरे नंबर पर चल रहे हैं। इस सीट पर भाजपा की अर्चना पोर्ते पहले और कांग्रेस उम्मीदवार गुलाब सिंह राज दूसरे नंबर पर हैं। मरवाही विधानसभा सीट, जोगी परिवार की परंपरागत सीट मानी जाती है। इस बार अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने अपने पिता के लिए ये सीट छोड़ी थी। अजीत सिंह ने इसी सीट से जीतकर छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री बनने का गौरव हासिल किया था। छत्तीसगढ़ जब मध्य प्रदेश में था तब से आदिवासी समुदाय के लिए आरक्षित ये सीट काफी चर्चित रही है। इस सीट की एक खासियत और है कि ये दलबदलू नेताओं के लिए जानी जाती है।

अखिलेश ने गठबंधन का किया गुणगान
पांच राज्यों के चुनाव रुझानों में भाजपा सभी जगह पीछे नजर आ रही है। इनमें से तीन राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा सत्ता से बाहर होती दिख रही है। अखिलेश यादव ने इस पर ट्वीट कर महागठबंधन का गुणगान किया है। अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है ‘जब एक और एक मिलकर बनते हैं ग्यारह… तब बड़े-बड़ों की सत्ता हो जाती है नौ दो ग्यारह…’। अखिलेश का ये ट्वीट लोकसभा चुनाव 2019 के महागठबंधन की तरफ इशारा करता है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस