रायपुर। छत्तीसगढ़ में नई सरकार के आने के बाद नए सिरे से प्रशासनिक कार्ययोजना बनने लगी है। सरकार ने जो चुनावी वादे किए थे उसे पूरा करने के लिए विभागवार जानकारियां जुटाई जा रही हैं। पुलिस विभाग से पूछा गया है कि पुलिस कर्मियों की क्या मांगें थीं, उन्हें सरकार के वादों के अनुसार कैसे पूरा किया जा सकता है।

किसानों की कर्जमाफी के लिए अन्य बैंकों से क्या आंकड़े मिले हैं, संविदा में किन विभागों में कितने लोग कार्यरत हैं, बेरोजगारी भत्ता देना है तो आंकड़ा क्या है, वृद्धावस्था पेंशन पर खर्च कितना आएगा, ग्रामीण कृषि आधारित उद्योगों, प्रसंस्करण उद्योगों के लिए क्या नीति बन सकती है, विभागों में कितनी नौकरियां खाली हैं और इसकी भर्ती कैसे हो, बिजली बिल आधा करने पर वित्तीय भार कितना आएगा आदि ऐसे तमाम सवाल हैं जिनका जवाब तुरंत तलाश किया जाना है। इसी आधार पर नई सरकार की कार्ययोजना तैयार होगी और क्रियान्वयन के संसाधन जुटाए जाएंगे।

इन विषयों को लेकर गुरूवार को मंत्रालय में मुख्य सचिव अजय सिंह ने सभी अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों और स्वतंत्र प्रभार वाले विशेष सचिवों की बैठक ली। बैठक में कार्ययोजना तो नहीं पेश हो पाई पर यह चर्चा जरूर हुई कि कार्ययोजना बनाने के लिए जानकारियां कितनी जुटाई जा सकी हैं। मुख्य सचिव ने पूछा कि जो जानकारियां मांगी गई थीं वह कितनी मिली हैं।

कब तक जानकारी जुटाई जाएगी और कब कार्ययोजना बनेगी। उन्होंने अफसरों से कहा कि जल्द से जल्द विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर लें। उन्होंने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में होने वाले व्यय का भी आकलन किया जाए। कार्ययोजना तैयार करने के बाद उसका परीक्षण संबंधित विभागों के मंत्री से कराया जाए। योजनाओं के सुचारू क्रियान्वयन के लिए आगामी बजट में भी प्रावधान किया जाएगा।

यह अधिकारी बैठक में थे

बैठक में कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव सुनील कुजूर, वन विभाग के अपर मुख्य सचिव सीके खेतान, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास आरपी मण्डल, अपर मुख्य सचिव वित्त अमिताभ जैन, विशेष पुलिस महानिदेशक आरके विज, प्रमुख सचिव खाद्य ऋचा शर्मा, सचिव खनिज संसाधन सुबोध सिंह, प्रमुख सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संजय शुक्ला, सचिव मुख्यमंत्री गौरव द्विवेदी, सचिव महिला एवं बाल विकास डॉ. एम गीता, सचिव स्वास्थ्य निहारिका बारिक सिंह, सचिव उधा शिक्षा सुरेन्द्र जायसवाल, सचिव वाणिज्यिककर डीडी सिंह, सचिव उद्योग डॉ. कमलप्रीत सिंह, सचिव ग्रामोद्योग हेमंत पहारे, सचिव आदिम जाति, अनुसूचित जाति विकास रीना बाबा साहेब कंगाले, सचिव जल संसाधन अविनाश चम्पावत, सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास निरंजन दास, सचिव राजस्व एनके खाखा, विशेष सचिव श्रम विभाग आरशंगीता, विशेष सचिव सामान्य प्रशासन रीता शांडिल्य, विशेष सचिव समाज कल्याण आर प्रसन्न्ा समेत विभिन्न् विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।  

Posted By: Hemant Upadhyay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस