रायपुर। छत्तीसगढ़ में मतदान के बाद जो सवाल सबसे ज्यादा पूछा जा रहा है वह है-खरसिया से ओपी चौधरी जीत रहे हैं या नहीं। दूसरा सबसे चर्चित सवाल है-बस्तर के नक्सली इलाकों में इस बार जो जबरदस्त वोटिंग हुई है वह किसके पक्ष में हुई है।

इन सवालों के सही जवाब का पता तो 11 दिसंबर को ही चलेगा लेकिन फिलहाल सभी की जुबान पर यह सवाल बने हुए हैं। चुनाव के नतीजे जब तक आते नहीं लोगों की जिज्ञासा बनी रहेगी। मतदान के एक हफ्ते बाद नईदुनिया ने वह पांच सवाल तलाशे जो इन दिनों छत्तीसगढ़ की राजनीतिक फिजां में सबसे ज्यादा पूछे जा रहे हैं। ये सवाल यह हैं-

खरसिया में ओपी चौधरी का क्या होगा

ओपी का सवाल पहले नंबर पर इसलिए है क्योंकि उन्होंन कलेक्टरी से अप्रत्याशित ढंग से इस्तीफा देकर बड़ा दांव खेला है। खरसिया पहले भी हॉट सीट रही है पर इस बार ओपी के कारण ज्यादा हॉट हो गया है। उनके मुकाबले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय नंदकुमार पटेल के बेटे उमेश पटेल उतरे हैं। उमेश को किसी भी एंगल से कमजोर नहीं माना जा सकता और ओपी ने यह सीट छीनने में कोई कसर बाकी नहीं रखी। तो क्यों न यही सबसे बड़ा सवाल हो।

नक्सल इलाकों में वोट किसे पड़े

लोगों की जिज्ञासा के आधार पर दूसरा बड़ा सवाल है कि बस्तर के धुर नक्सल इलाकों में आदिवासी वोट डालने निकल तो गए पर किसके पक्ष में निकले थे। इस बार उन बूथों पर वोटिंग हुई है जहां इससे पहले वोट डालने पर नक्सली प्रतिबंध रहता था। कांग्रेस भाजपा के अपने अपने दावे तो जरूर हैं। कहा जा रहा है कि इन्हीं इलाकों में बढ़त बनाने के लिए कांग्रेस ने नक्सली क्रांतिकारी वाला दांव खेला था। वैसे इन वोटों पर भाजपा का भी दावा कमजोर नहीं है।

....और यह सवाल भी चर्चा में

चुनाव हुए हैं तो जाहिर है कि कौन पार्टी जीतेगी और कौन मुख्यमंत्री बनेगा यह सवाल पूछा ही जा रहा है। अगर भाजपा जीत गई तब तो कोई बात ही नहीं। रमन फिर सीएम बन जाएंगे। सवाल यह पूछा जा रहा है कि अगर कांग्रेस जीती तो क्या होगा। कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री कौन बनेगा। अगर कांग्रेस जीत गई तो भाजपा से नेता प्रतिपक्ष कौन होगा यह सवाल भी खूब पूछा जा रहा है।

सोशल मीडिया का भी ले रहे सहारा

ऐसे सवाल जिनके एक से ज्यादा जवाब हैं उनका सही जवाब तलाशने की उत्कंठा कितनी ज्यादा है यह इसी से पता चलता है कि कई सवालों पर सोशल मीडिया पर वोटिंग कराई जा रही है। कौन पार्टी जीतेगी, कौन सीएम होगा, किस सीट पर कौन जीत रहा है आदि सवालों पर लगातार वोटिंग हो रही है। हालांकि सोशल मीडिया पर वोटिंग से भी सही उत्तर मिलना मुश्किल है। उत्तर तो 11 दिसंबर को ही मिलेगा। यह सभी को पता है पर क्या करें-दिल है कि मानता नहीं।  

Posted By: Hemant Upadhyay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप