अंबिकापुर । प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को अंबिकापुर में चुनावी रैली में कांग्रेस नेता शशि थरूर के बयान का जिक्र करके हुए कहा कि एक चाय वाला देश का प्रधानमंत्री गया तो उसका श्रेय भी वे जवाहरलाल नेहरू को देते हैं। वे कहते हैं कि नेहरू के लोकतांत्रिक मूल्यों के कारण ही एक चाय वाला मोदी देश का प्रधानमंत्री बन सका।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि नेहरू के लोकतांत्रिक मूल्य इतने ही मजबूत हैं तो जरा कांग्रेस पार्टी एक परिवार से बाहर के किसी कांग्रेसी कार्यकर्ता को पांच साल के अध्यक्ष बना दें। मोदी ने आगे कहा, एक चाय वाला प्रधानमंत्री की कुर्सी पर कैसे बैठ गया, यह बात कांग्रेसियों को बर्दाश्त नहीं हो रही है, क्योंकि यह हिंदुस्तान के लोकतंत्र को ही नहीं समझ पर रहे हैं।

यदि वे लोकतंत्र की समझ रखते तो उन्हें समझ आता कि देश की राजनीति एक परिवार तक सीमित नहीं है। यदि कांग्रेस परिवारवाद से बाहर निकलकर किसी सामान्य व्यक्ति को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए तब यह समझ आएगा कि नेहरू जी ने इस लोकतंत्र की आधारशिला किस आधार पर रखी थी।

पीएम नरेंद्र मोदी की इस जनसभा के दौरान सरगुजा संभाग की विधानसभा सीटों के भाजपा उम्मीदवार रामविचार नेताम, विजय प्रताप, अनुराग सिंह, रजनी त्रिपाठी, प्रो गोपाल राम भगत, विजय नाथ सिंह, राम किशुन सिंह सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस भाई से भाई को लड़ाने का काम करती है। हमारी सरकार सबका साथ-सबका विकास के मिशन पर काम कर रही है। पीएम ने कहा कि जो काम जवानों की गोलियां नहीं कर सकती, वो काम बस्तर के लोगों ने मतदान करके दिखाया। उन्होंने कहा कि नक्सलियों से बिना डरे बस्तर में भारी मतदान हुआ। प्रधानमंत्री मोदी ने नक्सलियों को खरी खोटी सुनाते हुए कहा कि उन्होंने अंगुलियां काटने की धमकी दी थी, लेकिन बस्तर के लोगों ने भारी मतदान करके दिखाया। 

Posted By: Sandeep Chourey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप