रायपुर।  कांग्रेस घोषणा पत्र समिति के प्रमुख टीएस सिंहदेव मतदान के बाद पहली बार सोमवार को राजीव भवन में मीडिया से मुखातिब हुए। सिंहदेव ने दावा किया कि कांग्रेस ने घोषणा पत्र में जितने वादे किये हैं, वह सरकार बनने पर राज्य के संसाधनों से पूरा किया जाएगा। कोई भी वादा अधूरा नहीं रहेगा। वहीं, सिंहदेव ने गठबंधन की खबरों को खारिज करते हुए कहा कि अजीत जोगी के साथ मिलकर सरकार बनाने से अच्छा है, मैं सरकार से बाहर रहूं।

सिंहदेव ने बताया कि पार्टी का घोषणा पत्र लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के पास गये, तब भी उनका पहला सवाल था कि इसे पूरा कैसे करेंगे। हमने उनको बताया कि राज्य के एक लाख करोड़ के सालाना बजट को लेकर यह कल्पना की गई है। जितना बजट है, उतना राजस्व भी आ रहा है, तो नई सरकार को 15 हजार करोड़ स्र्पये का मोबिलाईजेशन करना होगा। सभी कार्य प्राथमिकता के आधार पर तय किए जाएंगे।

बजट में कहीं कटौती की जाएगी तो कहीं आवंटन भी किया जाएगा। कांग्रेस की सरकार आएगी तो इस मामले में पूर्ण शराब बंदी कांग्रेस करेगी। इवीएम से छेड़खानी के सवाल पर सिंहदेव ने कहा कि इतने बड़े लोकतंत्र में ऐसा हो, ये असंभव नहीं है। लेकिन मैं आशावादी हूं, और जनता पर भरोसा करता हूं।

राजनीति में सब चलता है, यह मैं नहीं मानता

सिंहदेव ने दो टूक कहा कि अजीत जोगी ने भाजपा का हमेशा समर्थन किया। अंतागढ़ के मामले में सब साफ हो गया। राजनीति में सब चलता है, ये मैं नहीं मानता। समझौता आदमी सत्ता के लिए करता है ये भी मेरा मानना नहीं है। भावी विधायकों को पूरी तरह से समर्थित बताते हुए सिंहदेव ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि कोई कांग्रेसी विधायक भाजपा में जा सकता है। जिसे जाना था, वो पहले ही भाजपा में चला गया। निर्दलीय प्रत्याशी को खड़ा करने का एक चलन चल रहा है। कुछ प्रत्याशी बतौर स्ट्रेटजी खड़े हो जाते है। इसे स्वास्थ्य राजनीति नहीं माने जा सकते।

यह है वादों का अर्थगणित

सिंहदेव ने बताया कि किसानों की कर्जमाफी की राशि कहीं से भी जुटाई जा सकती है। बेरोजगारी भत्ता के लिए करीब 3300 करोड़ स्र्पये खर्च होगा। इसके लिए हर माह ढाई करोड़ लगेंगे। शासकीय कर्मचारियों की मांग पूरी करने के लिए 4500 करोड़ स्र्पये, स्वास्थ्य के लिए 4350 करोड़, बुजर्गों को पेंशन के लिए साढ़े तीन सौ करोड़, यूनिवर्सल फूड सिक्योरिटी के लिए बड़ी राशि खर्च करनी होगा। पहला यूनिवर्सल कार्ड रमन सिंह को ही दूंगा। राज्य में संसाधनों की कमी नहीं है, बल्कि उसे सही तरीके से उपयोग की जरूरत है।

जकांछ का पटलवार

जोगी को लेकर सिंहदेव के बयान पर जकांछ ने भी पलटवार किया है। जकांछ के प्रवक्ता संजीव अग्रवाल ने कहा की टीएस सिंहदेव ने स्वयं ही मान लिया है कि वे सत्ता से बाहर है इसलिए नतीजे आने से पहले ही स्पष्टीकरण दे रहे हैं।

अग्रवाल ने कहा कि सिंहदेव को पहले भी जोगी से परेशानी रही है। भूपेश बघेल के साथ मिलकर वे जोगी के विस्र्द्ध साजिश रचते रहे थे। कांग्रेस आज आपसी गुटबाजी व कलह से जूझ रही है। यही कारण है कि सिंहदेव पार्टी छोड़ जोगी की फिक्र कर रहे हैं। राज्य में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ स्पष्ट बहुमत से सरकार बना रही है इसलिए उनको जोगी के लिए परेशान होने की कोई जरुरत नहीं है।

 

Posted By: Hemant Upadhyay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप