रायपुर। छत्तीसगढ़ में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई कांग्रेस सरकार की कमान भूपेश बघेल संभालेंगे। केंद्रीय पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खडगे ने विधायक दल की बैठक के बाद पीसीसी अध्यक्ष व विधायक भूपेश बघेल को विधायक दल का नेता चुने जाने का एलान किया।

घोषणा होते ही भूपेश ने मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल ताम्रध्वज साहू, डॉ. चरणदास महंत और टीएस सिंहदेव का चरणस्पर्श कर उनका आशीर्वाद लिया। आपसी प्रतिस्पर्धा को भुलाकर सिंहदेव ने भी भूपेश को गले लगा दिया, तो साहू और महंत ने भूपेश को मिठाई खिलाकर शुभकामनाएं दीं। इसके बाद पार्टी मुख्यालय में भूपेश के लिए नारे लगने लगे। ढोल-नगाड़े बजे और पटाखे भी फूटे।

दोपहर एक बजे खडगे, कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, डॉ. चंदन यादव, डॉ. अस्र्ण उरांव, सिंहदेव, महंत, साहू के साथ बघेल राजीव भवन पहुंचे। भीड़भाड़ से बचने के लिए सभी पीछे के गेट से सीधे प्रथम तल के हॉल में आए, जहां पार्टी के 64 विधायक इंतजार कर रहे थे।

सिंहदेव ने रखा प्रस्ताव और साहू व महंत ने अनुमोदन किया

खडगे ने राहुल गांधी की तरफ से सभी विधायकों को कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए आभार जताया और उसके बाद उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के लिए भूपेश बघेल को चुना है। इसके बाद सिंहदेव ने बघेल को मुख्यमंत्री बनाए जाने का प्रस्ताव रखा। पहले साहू और महंत ने प्रस्ताव पर सहमति दी। इसके बाद विधायकों ने भी समर्थन किया। प्रस्ताव पास होते ही भूपेश कुर्सी से उठे और खडगे, पुनिया, सिंहदेव, साहू व महंत का पैर छूकर आशीर्वाद दिया। एक-दूसरे को मिठाई खिलाई गई।

विधायक दल की बैठक 35 मिनट चली। उसके बाद सभी भूतल के हॉल में आए, जहां पत्रकार वार्ता हुई। खडगे ने विधायक दल के निर्णय की घोषणा की। भूपेश ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर उत्साह का माहौल है। विधायक दल की बैठक में विधायकों के अलावा महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी भी उपस्थित थे।

भूपेश को बड़ी जिम्मेदारी, सबको मिलकर पूरा करना है : खडगे

विधायक दल की बैठक में खडगे ने कहा कि 15 साल बाद फिर से हुकूमत में आए हैं, तो प्रदेश की जनता की कठिनाइयों को दूर करना है। सामने समस्याएं बहुत सी हैं। घोषणापत्र को अमल में लाना है। राहुल गांधी ने भूपेश बघेल को बड़ी जिम्मेदारी दी है, लेकिन उसे सबको मिलकर पूरा करना है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व को छत्तीसगढ़ की टीम पर भरोसा है।

पहली कैबिनेट में आएगा कर्जमाफी और झीरम कांड की जांच का प्रस्ताव

बघेल ने विधायक दल की बैठक और पत्रकार वार्ता में कहा कि पहली कैबिनेट की बैठक में किसानों का कर्ज माफ, धान पर प्रति क्विंटल 25 सौ समर्थन मूल्य और झीरम कांड की जांच के लिए एसआइटी (विशेष जांच दल) के गठन का प्रस्ताव लाया जाएगा।

नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने का मिला दायित्व : भूपेश

मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भूपेश बघेल ने कहा और ट्वीट भी किया कि राहुल गांधी ने मुझे पहले बहुमत लाने की जिम्मेदारी दी और अब नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने का दायित्व सौंपा है। छत्तीसगढ़ की महान जनता को विश्वास दिलाता हूं कि कांग्रेस की सरकार जन आकांक्षाओं, आशाओं व अभिलााषाओं को पूरी करने वाली सरकार होगी।

सरकार के सामने चुनौतियां

  • 10 दिन में किसानों का कर्जमाफ
  • धान पर समर्थन मूल्य को 25 सौ करने
  •  दो साल का बकाया बोनस किसानों को देने
  • प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी करने
  • बेरोजगारी को खत्म करने
  • नक्सल समस्या का समाधान
  • शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार
  • महिलाओं की सुरक्षा

Posted By: Hemant Upadhyay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस