समस्तीपुर, जेएनएन। अपने दर्जनों समर्थकों के साथ चुनाव प्रचार को निकले विभूतिपुर के विधायक रामबालक सिंह को महथी उत्तर के लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ गया। लोग विगत 10 वर्षों में समस्याओं का निदान नहीं हो पाने से उनके समक्ष अपनी नाराजगी जता रहे थे। इस बीच जदयू समर्थकों और ग्रामीणों के बीच नोंकझोंक शुरू हो गई। बताया जाता है कि सड़क पर जाम खाली कराने के लिए समर्थक और ग्रामीणों में हाथापाई तक हो गई। जदयू समर्थक ग्रामीणों को धमकाने लगे।  इसको देख स्वयं विधायक भी असहज हो गए। हालांकि स्थानीय लोगों की पहल पर मामले को शांत करा लिया गया।

 मगर, इस बात की सरेआम चर्चा है कि कैसे चुनाव आयोग के तमाम नियम कायदों को ताक पर रखकर विधायक और उनके समर्थकों ने एक बड़ी बाइक रैली निकाल दी। इस संबंध में जब विधायक रामबालक सिंह से उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो बार-बार फोन करने के बावजूद फोन रिसीव नहीं हुआ। इधर, अंचलाधिकारी आदित्य विक्रम का फोन भी लगातार बंद रहा। थानाध्यक्ष कृष्ण चंद्र भारती ने बताया कि इस आशय का आवेदन अप्राप्त है। अगर, आदर्श आचार संहिता उल्लंघन का मामला सामने आता है, तो प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस