जमुई। जिले के चारों विधानसभा सिकंदरा, जमुई, झाझा और चकाई में मतदान शांतिपूर्ण संपन्न होने के बाद प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला अब 10 नवंबर को मतगणना के बाद होगा। ईवीएम को कड़ी सुरक्षा के बीच स्ट्रांग रूम में रखा गया है। केकेएम कॉलेज में बने स्ट्रांग रूम में सुरक्षा का जिम्मा स्पेशल फोर्स और पुलिस के जवानों ने संभाल लिया है। जिस जगह पर मतदान सामग्री रखी हुई है वहां की सुरक्षा व्यवस्था ऐसी है कि परिदा भी पर नहीं मार सकता। पुलिस अधिकारी भी स्ट्रांग रूम के बाहर तैनात कर दिए गए हैं। जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन अधिकारी धर्मेंद्र कुमार स्ट्रांग रूम की व्यवस्था पर खुद नजर बनाए हुए हैं। मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद राजनीतिक दलों के नेताओं की धड़कने बढ़ गई है। हर कोई यह जानने में जुटा हुआ है कि ईवीएम खुलेगी तो क्या होगा। प्रत्याशी भी अपनी-अपनी जीत को लेकर वोटों का आकलन करने में जुटे हैं। वे इसी गणित में लगे हुए हैं कि किस बूथ पर कितने वोट पड़े और किसे पड़े। चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों ने गुरुवार को राहत की सांस ली है, लेकिन उनकी धड़कने परिणाम को लेकर बढ़ी हुई है। बता दें कि 240 सिकंदरा विधानसभा में 52.82, 241 जमुई में 61.07, 242 झाझा में 61.30 तथा 243 चकाई विधानसभा में सबसे ज्यादा 65.83 प्रतिशत मतदान हुआ है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस