पटना। प्रधानमंत्री के आगमन के ठीक एक दिन पहले स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना जांच के अपने पुराने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। एक दिन में अबतक की सर्वाधिक दस हजार 93 लोगों की जांच की गई। हालांकि, अगले ही दिन यह संख्या करीब ढाई हजार कम हो गई। बताते चलें कि राजधानी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने करीब एक माह पहले हर दिन दस हजार लोगों की जांच करने के निर्देश दिए थे। 24 में से 18 प्रखंड में अब भी लक्ष्य नहीं हो रहा पूरा :

प्रधान सचिव के निर्देश के बाद सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह ने सभी 24 प्रखंडों के लिए हर दिन कोरोना जांच का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है। हालांकि, इनमें से 18 प्रखंड अब भी अपने लक्ष्य से काफी पीछे चल रहे हैं। मोकामा में हर दिन लक्ष्य के 71 फीसद लोगों की ही जांच की जा रही है। पटना शहरी क्षेत्र में भी लक्ष्य से 16 फीसद कम जांच हो रही हैं। वहीं सबसे अधिक जांच लक्ष्य के डेढ़ गुना से अधिक जांच कर दानापुर अव्वल बना हुआ। खुशरूपुर, बख्तियारपुर, पटना सदर, फतुहा, दनियावां प्रखंड में भी लक्ष्य से अधिक लोगों की जांच की जा रही है।

तिथि, सैंपल

- 26 अक्टूबर, 8911

- 27 अक्टूबर, 10093

- 28 अक्टूबर, 7688

- 29 अक्टूबर, 9550

------------ पटना शहरी क्षेत्र में संक्रमितों की संख्या सबसे अधिक :

संक्रमण की रफ्तार के मामले में पटना शहरी क्षेत्र सबसे आगे हैं। यहां विगत चार दिनों में कुल 11600 लोगों की जांच की गई और 563 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जबकि चार दिन में पूरे जिले में कुल 679 लोग संक्रमित पाए गए हैं।

-------------

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस