जागरण संवाददाता, कन्नौज: रुपयों के लेनदेन में दोस्तों ने धारदार हथियार से हमला कर युवक की हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपित रात में ही फरार हो गए। सुबह तीसरे साथी ने पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस अधीक्षक ने उससे पूछताछ की। वहीं फारेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए। युवक और आरोपित दोस्त मिल में बोरे सिलने का काम करते थे। भतीजे की तहरीर पर आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मामला गुरसहायगंज के गांव बनियानी स्थित राइस मिल का है।

गांव में मयंक गुप्ता की राइस मिल है, इसी परिसर में गोशाला भी बनी हुई है। लॉक डाउन के बाद बिहार के बेगूसराय के थाना बछरावां के गांव रसीदपुर निवासी 38 वर्षीय कालीचरण पुत्र जगदीश राइस मिल में काम करने आए थे। यहां उसके साथ बिहार के समस्तीपुर निवासी बैजू महतो और मध्य प्रदेश के मुरैना निवासी तोमर भी काम करते थे। तीनों मिल में बोरा सिलने का काम करते थे। इनका चौथा साथी बिहार के थाना बछरावां के गांव रसीदपुर निवासी विजय राय पुत्र जगदीश राय गोशाला में दस हजार प्रति माह के वेतन पर काम करते हैं। उसने बताया कि गोशाला में बने कमरे में सभी लोग रहते थे। सोमवार रात करीब दस बजे तोमर का कालीचरण से रुपयों को लेकर विवाद हुआ था। आपस में मारपीट भी हुई थी। वह कमरे के बाहर सो रहा था। सुबह उठा तो कमरे में कालीचरण का खून से लथपथ शव पड़ा था। जबकि बैजू और तोमर फरार थे। उसने मिल मालिक को जानकारी दी। हत्या की जानकारी पर यहां पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार, कोतवाल राजा दिनेश और फारेंसिक टीम पहुंच गई। एसपी ने विजय राय से बात कर जानकारी की। वहीं फारेंसिक टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए। रेलवे में चतुर्थ श्रेणी में करने वाले भतीजे विपिन साहनी ने तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस