पश्चिम चंपारण, जेएनएन। लौरिया विधानसभा क्षेत्र में चुनावी मुकाबला बेहद रोचक है। चुनावी मैदान में कुल 3 उम्मीदवार पूरे दमखम के साथ उतरे हैं। एनडीए की ओर से भाजपा के निवर्तमान विधायक व भोजपुरी स्टार विनय बिहारी चुनावी मैदान में हैं। पिछले दस वर्ष के विकास कार्यों को मुद्दा बनाने की कोशिश में हैं। हालांकि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर प्रतिद्वंदी उम्मीदवार उनको घेर रहे हैं। वहीं निवर्तमान विधायक की भाभी नीलम सिंह भी निर्दलीय मैदान में हैं। वे विधायक के कार्यों से असंतुष्ट जमात को हवा देने में लगी है।

 वहीं 2015 विधानसभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार व लौरिया प्रखंड के प्रमुख शंभु तिवारी को इस बार महागठबंधन की ओर से राजद ने टिकट दिया है। 20 वर्ष से विधानसभा चुनाव की राजनीति में सक्रिय श्री तिवारी महागठबंधन के आधार वोट के साथ ब्राह्मण मतदाताओं को भी गोलबंद कर रहे हैं। वे  बसपा के आधार वोट के साथ स्वजातीय वोट को गोलबंद कर रहे हैं।

 वहीं पिछली बार विधानसभा में राजद के उम्मीदवार रणकौशल प्रताप सिंह उर्फ गुड्डू पटेल को इस बार राजद ने टिकट नहीं दिया तो वे बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। 2015 के विधानसभा चुनाव में राजद के टिकट पर चुनाव लड़ रहे रणकौशल को 39778 मत मिले थे।वहीं 2015 के चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी शंभु तिवारी को 20793 मत मिले थे। जबकि भाजपा के विनय बिहारी 57351 मत लेकर चुनाव जीत गए थे। इस बार के चुनाव में निवर्तमान विधायक के दस वर्ष के कार्यकाल का भी मतदाता आकलन कर रहे हैं।  वोटिंग की प्रक्रिया यहां पूरी हो गई है। यहां 56.8 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है । 

प्रमुख मुद्दे: 

-- विधानसभा क्षेत्र के आठ पंचायतों के लिए जवाहिरपुल घाट पर पुल।

-- सिकरहना नदी पर पुल

-- लौरिया- योगापट्टी पथ का जीर्णोद्धार।

-- एनएच 727 से नवलपुर सड़क का जीर्णोद्धार।

--  लौरिया में तुरकही नाले की सफाई व सौंदर्यीकरण।

-- लौरिया को बौद्ध सॢकट से जोडऩा। 

कुल प्रत्याशी -10 

 प्रमुख उम्मीदवार : 

विनय बिहारी (भाजपा)

शंभु तिवारी (राजद)

रणकौशल प्रताप सिंह उर्फ गुड्डू पटेल (बसपा)

नीलम सिंह (निर्दलीय)

सीमा देवी (जाप)

अब्दूल कुयुम (जन संघर्ष दल)

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021