समस्तीपुर । जननायक की भूमि समस्तीपुर से रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना संदेश देंगे। विधानसभा चुनाव में एनडीए की ओर से तमाम बातों को लोगों से साझा करेंगे। जितवारपुर हाउसिग बोर्ड मैदान में पीएम मोदी की यह दूसरी सभा होगी। उनके साथ मंच पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, गिरिराज सिंह, जल संसाधन मंत्री संजय झा, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, राज्यसभा सदस्य रामनाथ ठाकुर समेत एनडीए के कई प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे। मंच पर कोरोना के नियमों का पालन करते हुए इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा प्रबंधों को लेकर जिलाधिकारी शशांक शुभंकर, एसपी विकास वर्मन समेत सभी वरीय अधिकारियों ने शनिवार की देर तक तमाम इंतजामों को देखा। देर रात तक अधिकारियों की टीम सभास्थल पर मौजूद रही। जिलाधिकारी ने बताया कि सभा को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षित एरिया में कार्डधारी ही प्रवेश पा सकेंगे। सभी प्रवेश व निकास द्वार पर प्रशिक्षित सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। मेटल डिटेक्टर से गुजरेंगे लोग

हाउसिग बोर्ड मैदान में पीएम मोदी की भाषण सुनने के लिए आम लोगों को पैदल ही आना पड़ेगा। सारे मार्गों पर वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दी गई है। इस दौरान मैदान के अंदर अगर कोई भाषण सुनने जाएंगे तो उनके लिए गेटों का निर्माण कराया गया है। उन सभी गेटों से आम लोगों को मैदान में प्रवेश कराया जाएगा। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सभी गेट पर मेटल डिटेक्टर की व्यवस्था की गई है। साथ ही भारी संख्या में सुरक्षा बल की तैनाती की गई है। कड़ी सुरक्षा घेरे में हाउसिग बोर्ड मैदान

समस्तीपुर कॉलेज, समस्तीपुर के समीप हाउसिग बोर्ड मैदान में प्रधानमंत्री का हैलीकॉप्टर उतरेगा। इसके मद्देनजर मैदान परिसर की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। किसी को भी अंदर प्रवेश की इजाजत नहीं है। स्टेडियम की सुरक्षा व्यवस्था और हेलीपैड निर्माण को लेकर को एसपीजी के एआइजी सहित जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने मैदान का निरीक्षण किया। इस दौरान एसपीजी के एआइजी ने जवानों को कई निर्देश दिए। चप्पे-चप्पे पर पुलिस, सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा को लेकर हाउसिग बोर्ड मैदान में सुरक्षा में तैनात अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर ली गई है। सभी गतिविधियों पर एसपीजी की पैनी नजर है। आइजी अजिताभ कुमार के नेतृत्व में तैयार ब्लू प्रिट को अंतिम रूप देने में अधिकारी लगे रहे। सभा में आनेवाली भीड़ पर भी पुलिस की नजर रहेगी। कोरोना को देखते हुए छोटे-छोटे घेरे में लोगों को शारीरिक दूरी में कुर्सी पर बैठाने व सुनने की व्यवस्था की गई है। इस हिसाब से पूरे मैदान की बैरिकेडिग की गई है कि एक घेरे वाले का दूसरे घेरे वाले से संबंध नहीं रहेगा अर्थात आपात स्थिति में सभी सुरक्षित रहेंगे। चुनावी सभा में सुरक्षा व्यवस्था की कोई चूक नहीं हो इसके लिए एसपीजी, पुलिस मुख्यालय और जिला पुलिस चौकस है। यही कारण है कि मोदी के आगमन के एक दिन पहले से जिले को नाकेबंदी कर शनिवार को चेकिग अभियान चलाया गया। इलेक्ट्रॉनिक सामान पर रहेगी पैनी नजर

सुरक्षा के लहजे से इलेक्ट्रॉनिक सामान पर सुरक्षा बलों की पैनी नजर होगी। भाषण सुनने वालों के पास मोबाइल छोड़कर ऐसा कोई भी इलेक्ट्रॉनिक सामान नहीं रहना चाहिए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस