जमुई। लोकतंत्र का महापर्व की समाप्ति के उपरांत गुरुवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन प्रत्याशी संजय प्रसाद चुनाव कार्यालय चकाई में आकर अपने कार्यकर्ताओं से मिले और स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान कहा कि लोकतंत्र का महापर्व कल शांतिपूर्ण समाप्त हो गया। आप सभी लोगों ने दिन-रात मेहनत किया। इसके लिए आप सब बधाई के पात्र हैं।

चुनाव के दौरान लोगों ने जात के नाम पर, धर्म के नाम पर, संप्रदाय के नाम पर धन-बल के नाम पर क्या-क्या स्लोगन नहीं दिया। लोगों को भ्रमित करने का प्रयास हुआ, फिर भी मतदाताओं का भरपूर स्नेह और प्यार हमें क्षेत्र में मिला। मैं इसके लिए आजीवन ऋणी हूं। मैं चकाई की जनता से वादा करता हूं कि जीत और हार अपनी जगह है, जीत तो आपकी हो चुकी है। चकाई विधानसभा को दो परिवार के चंगुल से मुक्त कराने का जो संकल्प आपने लिया था, वह संकल्प आपका पूरा हो चुका है। मैं इसके लिए आजीवन ऋणी रहूंगा। साथ ही वादा करता हूं कि आपकी सेवा के लिए 24 घंटा उपलब्ध रहूंगा। चकाई में रहूंगा और चकाई में एक स्थायी कार्यालय का निर्माण करा लूंगा। यहीं से मैं आपकी समस्याओं का समाधान करूंगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं का हौसलाअफजाई करते हुए कहा कि कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ होती है और इस चुनाव के दौरान मुझे देखने को मिला है। मैं एक नए अनुभव से गुजरा हूं। इस मौके पर कार्यकर्ताओं ने अपनी स्थिति से उन्हें अवगत कराया और उनको मिलने वाले मतों का अनुमानित आंकड़ा बताया। साथ ही अटल बिहारी वाजपेयी की एक पंक्ति सुनाते हुए कार्यकर्ताओं का उत्साह वर्धन किया। कहा, मैं जीत में भी हार में भी आपके साथ हूं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस