मधुबनी, जेएनएन। मधुबनी जिले की लौकहा सीट पर सूबे के आपदा प्रबंधन मंत्री लक्ष्मेश्वर राय की प्रतिष्ठा दांव पर है। वे पिछले चुनाव में जीत दर्ज कर आपदा प्रबंधन मंत्री बने थे। इस बार उनके सामने समीकरण व चुनौती अलग है। यह सीट जिले में जदयू का किला मानी जाती है। वर्ष 2000 से इसी पार्टी का कब्जा रहा है। बीच में 2005 के फरवरी में हुए चुनाव में राजद के अनीस अहमद ने यहां से जीत दर्ज की। लेकिन, उसी साल अक्टूबर में हुए चुनाव में जदयू ने वापसी कर ली। पिछले चुनाव में इस सीट पर जो विरोधी थे, वे इस बार साथ हैं। ऐसे में सीट का समीकरण बदल चुका है। ऐसे में मंत्री के सामने सीट बचाने की चुनौती होगी।

सबसे अहम जातीय समीकरण

लौकहा विधानसभा क्षेत्र में धानुक, तैलिक समाज, यादव व अल्पसंख्यकों की बहुलता है। धानुक मतदाता जदयू के वोट बैंक माने जाते हैं। लेकिन, इस बार राजद ने धानुक समाज के भारत भूषण मंडल को प्रत्याशी बनाकर पेच फंसा दिया है। पिछली बार जदयू के विरोध में रहे भाजपा प्रत्याशी प्रमोद कुमार प्रियदर्शी इस बार लोजपा के टिकट पर हैं। ये तैलिक समाज से हैं। ऐसे में वोटों का बिखराव दिख रहा है। इधर, पूर्व केंद्रीय मंत्री व सजद-डी के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेंद्र प्रसाद यादव के पुत्र आलोक कुमार यादव भी इस बार यहां से मैदान में हैं। उनकी नजर यादव व मुस्लिम वोटों पर है। यह महागठबंधन प्रत्याशी की सेहत के लिए हानिकारक माना जा रहा।

लोजपा बिगाड़ सकती खेल

अभी तक तो यहां एनडीए व महागठबंधन के सीधे मुकाबले के आसार थे। लेकिन, लोजपा ने भाजपा के बागी उम्मीदवार प्रमोद कुमार प्रियदर्शी को प्रत्याशी बनाकर लड़ाई को चतुष्कोणीय कर दिया है। पिछले चुनाव में भाजपा के टिकट पर प्रमोद कुमार प्रियदर्शी ने 56183 वोट के साथ जदयू के लक्ष्मेश्वर राय को (79971 मत) को टक्कर दी थी। इस बार जीत दर्ज करने के लिए जदयू प्रत्याशी को राजद व लोजपा, दोनों से पार पाना होगा।

बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर

इस सीट से जदयू के कई बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है। यह सीट झंझारपुर लोकसभा क्षेत्र के अधीन आता है। यहां के जदयू सांसद रामप्रीत मंडल लौकहा क्षेत्र से ही संबंध रखते हैं। वहीं, जदयू के वरीय नेता मंगली लाल मंडल का कार्यक्षेत्र भी लौकहा रहा है। ऐसे में इस सीट पर आपदा प्रबंधन मंत्री के साथ ही इन दोनों नेताओं की प्रतिष्ठा भी दांव पर है। राजनीति विश्लेषकों का मानना है कि यदि ये दोनों नेता क्षेत्र में सक्रिय होते हैं तो धानुक वोट के बिखराव को रोक सकते हैं।

इस बार के प्रमुख प्रत्याशी

जदयू : लक्ष्मेश्वर राय

राजद : भारत भूषण मंडल

लोजपा : प्रमोद कुमार प्रियदर्शी

जाप : ललित कुमार महतो

लौकहा सीट से अब तक के निर्वाचित विधायक

1952 : योगेश्वर (कांग्रेस)

1957 : रामदुलारी (कांग्रेस)

1962 : देवनारायण (पीएसपी)

1967 : एस साहु (कांग्रेस)

1969 : प्रयाग लाल (सीपीआइ)

1972 : धनिक लाल (एसओपी)

1977 : कुलदेव गोई (कांग्रेस)

1980 : लाल बिहारी (सीपीआइ)

1985 : अब्दुल हई (कांग्रेस)

1990 : लाल बिहारी (सीपीआइ)

1995 : लाल बिहारी (सीपीआइ)

2000 : हरि प्रसाद (समता पार्टी)

फरवरी, 2005 : अनिस अहमद (राजद)

अक्टूबर, 2005 : हरि प्रसाद (जदयू)

2010 : हरि प्रसाद (जदयू)

2015 : लक्ष्मेश्वर राय (जदयू)

लौकहा सीट से पिछले तीन चुनाव के विनर व रनर :

2005

विनर : हरि प्रसाद (जदयू)- 35737

रनर : अनिस अहमद (राजद)- 26990

2010

विनर : हरि प्रसाद (जदयू)- 47849

रनर : चितरंजन (राजद)- 30283

2015

विनर : लक्ष्मेश्वर राय (जदयू)- 79971

रनर: प्रमोद कुमार प्रियदर्शी (भाजपा)- 56183

मतदाता

कुल मतदाता : 338457

पुरुष : 175796

महिला : 162651

अन्य : 10

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस