पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Election 2020: कांग्रेस (Congress) ने चुनाव प्रचार के बीच अपना 'बदलाव पत्र 2020' (Manifesto) जारी किया। कांग्रेस के केंद्रीय स्तर के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में जारी घोषणा पत्र के जरिए हर तबके को खुश करने की कोशिश की है। पार्टी ने एलान किया है कि महागठबंधन की सरकार बनने के बाद सरकार शराबबंदी कानून की समीक्षा करेगी और जेल में बंद साढ़े तीन लाख लोगों को न्याय दिलाने का प्रयास करेगी। इसके साथ ही खाली पड़े साढ़े चार लाख पदों पर 18 महीने के अंदर नियुक्तियां कर दी जाएंगी। इसके साथ ही कांग्रेस ने अपने बदलाव पत्र में सरदार वल्लभ भाई पटेल पेयजल अधिकार योजना, इंदिरा गांधी कन्या विवाह योजना, सावित्री बा फूले शिक्षा योजना, युवा उद्यमियों के लिए दस लाख रुपये की कर मुक्त सहायता देने के साथ ही 12वीं कक्षा में 90 फीसद से ज्यादा अंक आने पर लड़कियों को स्कूटी देने के वायदे भी किए। बता दें कि इस बार कांग्रेस बिहार में 70 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़  रही है।

शराबबंदी कानून की कांग्रेस करेगी समीक्षा

कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर शराब माफिया को संरक्षण देने के आरोप लगाए हैं। कांग्रेेस का बदलाव पत्र जारी करने के दौरान सुरेजवाला ने कहा कि बड़ा सवाल यह है कि क्या बिहार में शराबबंदी है? उन्होंने कहा कि शराब बंदी के नाम पर प्रदेश में समानांतर उद्योग चलाया जा रहा है। नीतीश कुमार बिहार के साढ़े तीन लाख लोगों के गुनाहगार हैं , फिलहाल शराब के मामले में जेल में बंद हैं। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि महागठबंधन की सरकार बनने के बाद सरकार शराबबंदी कानून की समीक्षा करेगी और जेल में बंद साढ़े तीन लाख लोगों को न्याय दिलाने का प्रयास करेगी।

घोषणा पत्र से मरहम लगाने का दावा

कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला, राज बब्बर, बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, तारिक अनवर, सुबोध कांत सहाय, निखिल कुमार, अजय कपूर, अखिलेश प्रसाद सिंह, प्रेमचंद मिश्रा, कौकब कादरी और आनंद माधव जैसे नेताओं की मौजूदगी में बदलाव पत्र जारी करते हुए नेताओं ने कहा कि कांग्रेस के अपने बदलाव पत्र के लिए सबके दिल की आवाज सुनी है। नीतीश कुमार के 15 वर्षों के शासन में बिहार को गहरी चोटें लगी हैं कांग्रेस अपने बदलाव पत्र के माध्यम से उन चोटों पर मरहम लगाएगी।

शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि 15 वर्षों में बिहार की गरिमा को नीतीश कुमार ने काफी ठेस पहुंचाई है। महागठबंधन उस गरिमा को वापस लाएगा। सुरजेवाला ने कहा कि बिहार अपराध से मुक्ति चाहता है। प्रदेश सस्ती बिजली, पानी चाहता है। बदहाली की जंजीरें तोडऩा चाहता है। उन्होंने कहा कांग्रेस अपने बदलाव पत्र में 12 बड़े निर्णय लेकर आई है।

पीएम के सामने नीतीश कुमार की हैसियत नहीं

पूर्व सांसद राज बब्बर ने कहा कि प्रदेश की सरकार सिर्फ रोजगार के वादे करती रही। महागठबंधन ने 10 लाख नौकरी का एलान किया तो तंज किए गए। नीतीश कुमार चार बार मुख्यमंत्री बने और हर बार उन्होंने युवाओं के साथ छल किया। तारिक अनवर ने कहा के पीएम के सामने नीतीश कुमार की हैसियत नहीं। वरना पटना विवि को केंद्रीय विवि का दर्जा देने की मांग खाली नहीं जाती। निखिल कुमार ने महिला सशक्तिकरण के लिए कांग्रेस की पहल की जानकारी दी। डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार में आई तो राज्य में स्वास्थ्य का अधिकार कानून लागू किया जाएगा तथा  दूर-दराज के गांवों में मोबाइल अस्पताल की व्यवस्था होगी। प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कांग्रेस के शासनकाल में मैथिली की पढ़ाई होती थी इस काम को आगे बढ़ाया जाएगा। सुबोधकांत सहाय ने दलितों पर अत्याचार के निवारण के लिए किए जाने वाले कार्यों की चर्चा की।

शराब माफिया को नीतीश कुमार की खुली छूट

कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर शराब माफिया को संरक्षण देने के आरोप लगाए हैं। कांग्रेेस का बदलाव पत्र जारी करने दौरान सुरेजवाला ने कहा कि बड़ा सवाल यह है कि क्या बिहार में शराबबंदी है? या फिर शराब माफिया को कारोबार करने की छूट दी गई है। उन्होंने कहा कि शराब बंदी के नाम पर प्रदेश में समानांतर उद्योग चलाए जा रहे हैं। सब सरकार की नाक के नीचे हो रहा है। उन्होंने कहा नीतीश कुमार बिहार के साढ़े तीन लाख लोगों को गुनहगार हैं जो शराब के मामले में जेलों में बंद हैं।

कुछ अहम एलान :

युवा एवं रोजगार

* बेरोजगार युवाओं को हर महीने 1500 रुपये बेरोजगारी भत्ता

* बीपीएससी की परीक्षा में अतिरिक्त अवसर दिए जाएंगे

* राजीव रोजगार मित्र योजना लागू होगी। रोजगार मित्र करेंगे उद्योग स्थापना को सर्वे, नए उद्योगों में बेरोजगारों को नौकरियां

* राज्य में रोजगार आयोग का गठन होगा

--

शिक्षा का प्रकाश 

* केजी से पीजी तक बच्चियों को मुफ्त शिक्षा

* 12वीं कक्षा में 90 फीसद से ज्यादा अंक आने पर लड़कियों को स्कूटी

*18 महीने में शिक्षकों के 2.42 लाख रिक्त पद भरे जाएंगे

* नियोजित नियुक्तियों को समान काम के समान वेतन के लिए समीक्षा

* प्राइवेट स्कूल के मौजूद कानून की समीक्षा, प्रभावी संशोधन होंगे

*पिछड़े-अतिपिछड़े छात्रों के लिए निश्शुल्क कोचिंग संस्थान खुलेंगे

--

खेल कूद

* पदक लाओ पद पाओ योजना की होगी शुरुआत

* कक्षा 5वीं से 12 वीं के बच्चों के लिए श्रीकृष्ण सिंह खिलाड़ी प्रोत्साहन योजना

* आधुनिक खेल परिसर के लिए नेशनल-इंटरनेशनल ट्रेनर रखे जाएंगे

* सभी जिलों में खेल स्टेडियम के निर्माण किए जाएंगे

* बनेगी नई खेल नीति, खोले जाएंगे खिलाडिय़ों के किस्मत के द्वार

--

स्वास्थ्य ही धन है

* स्वास्थ्य सुविधाओं पर कुल सरकारी खर्च को बढ़ाकर बिहार की जीडीपी का आठ से 10 फीसद किया जाएगा।

* राज्य में स्वास्थ्य का अधिकार कानून लागू किया जाएगा

* दूर-दराज के गांवों में मोबाइल अस्पताल की व्यवस्था होगी

* हर प्रखंड में 108 एंबुलेंस के लिए एबुलेंस बैंक बनेंगे

* पीपीपी मोड पर मेडिकल से जुड़े रिसर्च सेंटर की स्थापना होगी

* सभी पंचायतों में व्यस्कों, महिलाओं व बच्चों के लिए कुपोषण पुनर्वास केंद्र बनेंगे

* नर्सिंग होम एक्ट लाकर मेडिकल दरें तय होगी

कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं

* युवा उद्यमियों के लिए दस लाख रुपये की कर मुक्त सहायता

* नई व्यावसायिक एवं उद्योग नीति प्रभावी की जाएगी

*  हर जिले में एक लाख लोगों के लिए एलआइजी, एमआइजी के लिए आवास बनाए जाएंगे

* व्यस्त चौराहों पर मल्टीलेवल पार्किंग की स्थापना की जाएगी

* हर घर को स्वच्छ पानी देने के लिए सरदार वल्लभ भाई पटेल पेयजल अधिकार योजना लागू होगी

* डॉ. राजेंद्र प्रसाद वृद्ध सम्मान पेंशन योजना लागू होगी 800 से 1000 रुपये दिए जाएंगे

* बाबू जगजीवन राम पेयजल योजना से हर दलित परिवार के लिए 100 लीटर पानी की टंकी एवं नल का निर्माण कराया जाएगा

* सावित्री बा फूले शिक्षा योजना से हर दलित बेटी को उच्च शिक्षा के लिए 80 फीसद छात्रवृति

* इंदिरा गांधी कन्या विवाह योजना से प्रत्येक दलित पविार की बेटी को 21 हजार रुपये दिए जाएंगे

  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस