जेएनएन, सासाराम। दिनारा विधानसभा सीट बिहार की 243 विधानसभा सीटों में से एक है। यह रोहतास जिले का हिस्‍सा है। ये क्षेत्र बक्सर लोकसभा सीट के अंतर्गत आता है। दिनारा पिछले दो चुनाव से प्रदेश की हॉट सीट है। पिछले चुनाव में आरएसएस के बडे चेहरों में शुमार राजेंद्र सिंह भाजपा के उम्‍मीदवार थे, जिन्‍हें जदयू के जय कुमार सिंह ने हरा दिया था। इस बार भाजपा और जदयू के बीच गठबंधन है और इस सीट से जदयू विधायक को राजग का संयुक्‍त प्रत्‍याशी घोषित किया गया है। इससे नाराज होकर राजेंद्र सिंह लोजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। राजद ने इस बार पूर्व जिलाध्यक्ष विजय मंडल को चुनाव मैदान में उतारा है, जिससे यहां लड़ाई कांटे की हो गई है। दिनारा, दावथ व सूर्यपुरा प्रखंड को मिलाकर बने इस विधानसभा क्षेत्र से इस बार 19 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। 1951 में हुए यहां पहले चुनाव में कांग्रेस के रामानंद उपाध्याय विधायक बने थे। यह प्रखंड धान के कटोरा के नाम से जाना जाता है। इस प्रखंड में धान, गेहूं और चने की खेती होती है। यहां एक लकवा का स्पेशलाइज्ड अस्पताल है जो राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है।

प्रमुख प्रत्‍याशी

1. जय कुमार सिंह, जदयू

2. विजय मंडल, राजद

3. राजेंद्र सिंह, लोजपा

प्रमुख मुद्दे

1.  उद्योग - यह इलाका धान की खेती के मामले में काफी समृद्ध है, बावजूद इसके यहां राइस मिलों की संख्‍या कम होती जा रही है। कृषि आधारित दूसरे उद्योगों के विकास के लिए बहुत अधिक काम नहीं दिखता।

2.सड़क - दिनारा कस्बे के ठीक बीच से होकर मोहनिया-आरा हाइवे गुजरता है। इस सड़क को फोरलेन बनाने की योजना पर कई साल पहले काम शुरू हुआ, लेकिन अब यह योजना सुस्त पड़ गई है। दिनारा को बक्सर से जोडऩे वाली सड़क का हाल तो और भी बुरा है। खासकर दिनारा से सटे यह सड़क गड्ढों और जलजमाव के कारण पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है।

वर्ष - कौन जीता - कौन हारा

2015 - जय कुमार सिंह, जदयू - राजेंद्र प्रसाद सिंह, भाजपा

2010 - जय कुमार सिंह, जदयू - सीता सुंदरी देवी, राजद

2005 नवंबर - सीता सुंदरी देवी, बसपा - रामधनी सिंह, जदयू

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस