पटना, राज्य ब्यूरो । Bihar Election 2020: बिहार की चुनावी राजनीति ने फिर गियर बदला है। आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर किसी ठौर पर नहीं टिक रहा है। बयार ऐसी बह रही कि अभी तक लड़ाई का रुख तय नहीं हो पाया है। हर घंटे सियासत अपना रंग बदल रही है। सुबह कुछ तो शाम को कुछ। नेताओं के शब्दकोष में नए-नए शब्द आने लगे हैं। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं स्टार प्रचारक शाहनवाज हुसैन ने कटिहार की एक सभा में बयान दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध दुष्प्रचार का एजेंडा चलाने वाले अर्बन नक्सली हैं।

शाहनवाज का यह बयान राजद-कांग्रेस को चुभ गया। जवाब देने के लिए कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी और राजद के प्रदेश प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी सामने आए।

गोडसे का फाॅलोवर और समाज को बांटने का आरोप 

राजद प्रवक्ता ने भाजपा नेताओं को कट्टरपंथी और गोडसे की राह पर चलने वाला बताया। शाहनवाज को नसीहत भी दी कि तलवार बांटकर समाज में आग लगाने वाले लोग अपने ज्ञान को अपने पास रखें। मुद्दे पर बात करें। जो सवाल जनता के जेहन में है, उसका जवाब दें। वोटरों को मुद्दे से भटकाने की कोशिश नहीं करें।

मृत्युंजय ने कहा कि भाजपा को हम भटकने नहीं देंगे। खींचकर मुद्दे पर लाएंगे। महागठबंधन का नारा है पढ़ाई, दवाई, सिंचाई और कमाई। लड़ाई इसी पर होगी। नक्सली और आतंकवाद पर नहीं।

दिल्‍ली में हारे थे, बिहार में भी हारेंगे

कौकब कादरी ने कहा कि ऐसे बयानों से भाजपा की मानसिकता उजागर होती है। दिल्ली में आतंकवाद के मुद्दे के साथ चुनाव मैदान में उतरने वाली भाजपा पराजय के बाद भी नहीं सुधरी है। बिहार में अब यह पार्टी नक्सलवाद को मुद्दा बनाना चाहती है। पर जनता सजग है और भाजपा की हकीकत से परिचित भी। दिल्ली में हारे थे। बिहार में भी हारेंगे।

शाहनवाज के इस बयान पर भड़का विपक्ष

डिप्टी सीएम सुशील मोदी के साथ कटिहार पहुंचे भाजपा के शाहनवाज हुसैन ने एक जनसभा में किसी का नाम लिए बगैर कहा कि प्रधानमंत्री के विरूद्ध दुष्प्रचार का एजेंडा चलाने वाले अर्बन नक्सली हैं। पीएम के काम की प्रशंसा विदेशों में भी हो रही है। कुछ लोगों को यह पच नहीं रहा है। लाठी में तेल पिलाने से विकास नहीं हो सकता है। विरोधी सुनियोजित तरीके से दुष्प्रचार के एजेंडे पर काम कर रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस