पटना, जेएनएन। Agiaon Election News 2020 : अगिआंव सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र पहले सहार विधानसभा के नाम से जाना जाता था। वर्ष 2010 में नये परिसिमन के बाद यह क्षेत्र सहार की जगह अगिआंव विधानसभा क्षेत्र के रूप में अस्तित्व में आया। अगिआंव विधानसभा बनने के बाद भाजपा के शिवेश कुमार विधायक बने। वर्ष 2015 में जदयू के टिकट पर प्रभुनाथ प्रसाद यहां के विधायक बने। अभी भी विकास के मामले में यह क्षेत्र उपेक्षित है। कई गांवों में आने-जाने की सुविधा तक नहीं है। यह सीट सुरक्षित श्रेणी में है। यहां के मतदाताओं ने मतदान कर सभी के भाग्‍य को ईवीएम में कैद कर दिया है।

प्रमुख प्रत्‍याशी

1. प्रभुनाथ राम, जदयू

2. मनु राम राठौर, रालोसपा

3. राजेश्‍वर पासवान, लोजपा

4. मनोज मंजिल - भाकपा माले

प्रमुख मुद्दे

1. बनास नदी पर पुल - अगिआंव विधानसभा क्षेत्र के गड़हनी प्रखंड के तीन घरवा टोला के मतदाता आज भी बनास नदी पार कर मतदान करने गड़हनी जाते हैं। इस नदी पर पुल बनाने के लिए विधानसभा में भी सवाल उठाया गया था।

2. सड़क -  क्षेत्र की अधिकांश सड़कों में सिर्फ गढ्ढे ही गढ्ढे दिखते हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आगमन के मौके पर रमडीहरा तक सड़क जरूर बनी, लेकिन प्रखंड मुख्यालय को जोडऩे वाली गड़हनी -सहगी पथ की स्थिति बेहद खराब है।

3. चिकित्‍सा - गड़हनी-बलिगांव पथ के सटे देवढी गांव का स्वास्थ्य उप केंद्र खुद बीमार है। इसका भवन खंडहर में तब्दील हो गया है। अस्पताल के कर्मियों का स्थानांतरण कहीं और कर दिया गया है।

4. रोजगार -  ग्रामीण क्षेत्रों को स्वावलंबी व समृद्ध बनाने की महात्मा गांधी के प्रयास के तहत कुटीर उधोगो की स्थापना की गई थी। जिसमें खादी ग्रामोउधोग के तहत कंबल बनाने का उद्योग भी उनमें से एक है। मगर भोजपुर और बक्सर जिले का इकलौता कंबल उद्योग यहां बदहाल है।

प्रमुख तथ्‍य

पुरूष मतदाता: 1,42,815

महिला मतदाता: 1,22,250

अन्य : 00

कुल मतदाता: 2,65,065

लिंग अनुपात: 856

वर्ष - कौन हारा - कौन जीता

2015 - प्रभुनाथ प्रसाद, जदयू - शिवेश कुमार, बीजेपी

2010 - शिव कुमार, बीजेपी - सुरेश पासवान, राजद

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021