बांका, जेएनएन। Bihar Assembly Election 2020 : बांका जिले के अमरपुर विधानसभा में इस बार त्रिकोणीय मुकाबला रहा । यहां पर जदयू ने वर्तमान विधायक जनार्धन मांझी के पुत्र जयंत राज को मैदान में उतारा है। वहीं, महागठबंधन की ओर से कांग्रेस ने जीतेंद्र सिंह को मैदान में उतारा है। जबकि लोजपा ने डॉ मृणाल शेखर को यहां से उम्मीदवार बनाया है। मृणाल पिछले बार यहां से बीजेपी के टिकट से मैदान में थे। मृणाल शेखर के लोजपा से आने के बाद महागठबंधन और एनडीए प्रत्याशी की परेशानी बढ़ गई है। मृणाल को लोजपा से टिकट लेने के बाद भाजपा ने उन्‍हें पार्टी से निष्‍कासित कर दिया है। यहां 65.5 फीसद मतदान हुआ।

अमरपुर विधानसभा का इतिहास

अमरपुर विधानसभा 1957 अस्तित्व में आया है। अमरपुर में विधानसभा के 15 चुनावों में कांग्रेस को 4, आरजेडी को 3 और जेडीयू को 2 बार जीत मिली है। अमरपुर में हुए विधानसभा के पिछले 2 चुनावों में जेडीयू विजयी रही है।

राजनीति क्षेत्र

अमरपुर में पिछले दो बार से जनार्दन मांझी चुनाव जीत रहे हैं। इस सीट पर आरजेडी के सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने विधानसभा के चार चुनावों में जीत हासिल की। अमरपुर में सिर्फ आरजेडी ही अकेली पार्टी रही है जो लगातार तीन चुनावों में जीती है। कांग्रेस और जेडीयू लगातार दो-दो बार ही जीतने में कामयाब रही है। जेडीयू के पास इस बार मौका है, अगर वो इस विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर लेती है तो आरजेडी की बराबरी कर लेगी।

रोजगार और चीनी मिल यहां पर बड़ा मुद्दा

अमरपुर शहर को 14 वार्डों में विभाजित किया गया है। इसे नगर पंचायत का दर्जा दिया गया है। लेकिन शहर का विकास उस तरह नहीं हो सका है। 20 साल पहले तक यहां पर गन्ने की मिलें हुआ करती थीं। मौजूदा समय में कई मिल बंद हो गईं। यहां पर रोजगार के साथ-साथ  यहां रोजगार सबसे बड़ा मुद्दा है।

अमरपुर की कुल आबादी

2011 की जनगणना के अनुसार, अमरपुर की जनसंख्या 4,00,661 है। यहां की 93.68 फीसदी आबादी ग्रामीण और 6.32 फीसदी आबादी शहरी क्षेत्र में रहती है. 2019 की वोटर लिस्ट के मुताबिक, अमरपुर में 2,89,171 मतदाता हैं। बीजेपी, जेडीयू, कांग्रेस और आरजेडी यहां की मुख्य पाॢटयां हैं. जेडीयू के जर्नादन मांझी अमरपुर के विधायक हैं।

इस बार अमरपुर में मुख्य मुकाबला

जयंत राज : जदयू

जितेंद्र सिंह : कांग्रेस

मृणाल शेखर : लोजपा

अमरपुर से अब तक के विधायक

1951-1957 : पशुपति सिंह (कांग्रेस)

1957-1962 : सतीश प्रसाद भगत (कांग्रेस)

1962-1967 : सतीश प्रसाद भगत (कांग्रेस)

1967-1969 : सुखनरायण सिंह (समयुक्ता सोशलिस्ट पार्टी)

1969-1972 : सुखनरायण सिंह (समयुक्ता सोशलिस्ट पार्टी)

1972-1977 : जनार्धन यादव (भारतीय जनसंघ)

1977-1980 : जनार्धन यादव (जनता पार्टी)

1980-1985 : नील मोहन सिंह (कांग्रेस)

1985-1990 : नील मोहन सिंह (कांग्रेस)

1990-1995 : माधो मंडल (निर्दलीय)

1995-2000 : सुरेंद्र प्रसाद सिंह (जनता दल)

2000-2005 : सुरेंद्र प्रसाद सिंह (राष्ट्रीय जनता दल)

2005-2010 : सुरेंद्र प्रसाद सिंह (राष्ट्रीय जनता दल)

2010-2015 : जनार्धन मांझी (जदयू)

2015-2020 : जनार्धन मांझी (जदयू)

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस