गया/नवादा, जेएनएन। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार को भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर रखा। कहा, नीतीश चाचा बूढ़े हो गए हैं अब इनसे बिहार नहीं संभल रहा है। हम जवान हैं, बिहार की कमान देकर देखिए। ठेठ बिहारी युवा हूं, जो कहता हूं वही करता हूं, बस एक बार मौका दें। मेरा डीएनए भी ठीक है। हमें सभी को साथ लेकर चलना है, सभी जात धर्म के लोगों को साथ लेकर चलेंगे। 

पहली कैबिनेट में ही 10 लाख नौकरियां देने के एजेंडे पर मुहर

रजौली विधानसभा क्षेत्र के सिरदला में चुनावी सभा में तेजस्वी ने कहा कि बिहार में भ्रष्टाचार थम नहीं रहा। बिना चढ़ावा थाने में कुछ नहीं होता। बेरोजगारी दर सबसे ज्यादा बिहार में बढ़कर 46.6 फीसद पहुंच चुकी है। महागठबंधन की सरकार बनाएं। पहली कैबिनेट में ही 10 लाख नौकरियां देने के एजेंडे पर मुहर लगेगी।

समान काम के बदले समान वेतन

तेजस्वी ने कहा कि नियोजित शिक्षक को समान काम के बदले समान वेतन, सभी टोला सेवक, विकास मित्र, आंगनबाड़ी सेविका और जीविका दीदियों की सेवा स्थायी कर उन्हें सशक्त करेंगे। लेकिन सरकारी नौकरी तब मिलेगी जब एक-एक वोट हमें देंगे। जनता से सीधा संवाद करते हुए कहा कि स्कूल-कॉलेज में में शिक्षक, चपरासी और लेखपाल, पुलिस विभाग में सिपाही सहित अन्य विभागों में काफी रिक्तियां है। सभी पदों को भरेंगे। नवरात्रि है सच बोल रहे हैं, संकल्प लिया है बिहार की जनता का दुख-दर्द दूर करना है।

दस नवंबर को नीतीश जी की विदाई तय

10 नवंबर को नीतीश जी की विदाई तय है। गया के बेलागंज, फतेहपुर, खिजरसराय, गुरुआ, मोहनपुर में उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार पर हमला करते हुए कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं मिला? सरकार बनते ही किसानों का केसीसी ऋण को माफ करने का काम करेंगे। रोजगार के लिए फैक्ट्री खोलेंगे। लालू जी जब रेल मंत्री थे तो बिहार में कई जगह पर मधेपुरा, रोहतास, मढ़ौरा में रेल फैक्ट्री खुलवाकर युवाओं को रोजगार देने का काम किया। 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस