पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुना को लेकर सभी राजनीतिक दलों व गठबंधनों ने पूरी ताकत झाेंक दी है। इसी क्रम में राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के अध्‍यक्ष उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) एवं एआइएमआइएम (AIMIM) के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के साथ ग्रैंड यूनाइटेड सेक्युलर फ्रंट (GUSF) की एक दर्जन रैलियां करने जा रहे हैं। बीएसपी प्रमुख मायावती बिहार की पहली रैली 23 अक्टूबर को भभुआ (Bhabhua) में होगी। इसी दिन ब्रह्मïपुर (Brahmapur) और डुमरांव (Dumraon) में भी रैलियां होंगी। उपेंद्र कुशवाहा कोसी (Koshi) और सीमांचल (Simanchal) में असदुद्दीन ओवैसी के साथ तथा उत्तर प्रदेश (UP) के सीमावर्ती जिलों में मायावती के साथ दर्जन भर रैलियां करेंगे। असदुद्दीन ओवैसी के साथ उपेंद्र कुशवाहा की चुनावी सभाएं 26 व 27 अक्टूबर को होंगी।

अपने-अपने प्रभाव वाले इलाकों में चुनाव प्रचार करेंगे नेता

चुनाव में ग्रैंड यूनाइटेड सेक्यूलर फ्रंट के उम्मीदवारों की जीत दिलाने के लिए बीएसपी प्रमुख मायावती, एआइएमआइएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी, राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी अध्‍यक्ष उपेंद्र कुशवाहा और समाजवादी जनता दल (SJD) के देवेंद्र प्रसाद यादव (Devendra Prasad Yadav) अपने-अपने प्रभाव वाले इलाकों में ज्यादा से ज्यादा चुनाव प्रचार करेंगे। इसके लिए विस्तृत कार्यक्रम तैयार किया जा रहा है। मायावती उत्तर प्रदेश से सटे बिहार के जिलों में रैलियां कर दलित वोटों को एकजुट करना चाहती हैं। इसका असर महागठबंधन (Mahagathmabdhan)और राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के चुनाव परिणाम पर भी पड़ेगा।

26 व 27 अक्टूबर को ओवैसी के साथ कुशवाहा की सभाएं

आरएलएसपी के कोषाध्यक्ष राजेश यादव ने बताया कि भभुआ में मायावती की होने वाली चुनावी सभा में उपेंद्र कुशवाहा, समाजवादी जनता दल के प्रमुख देवेंद्र प्रसाद यादव के अलावा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) के नेता भी मंच पर होंगे। वहीं 26 व 27 अक्टूबर को असदुद्दीन ओवैसी के साथ उपेंद्र कुशवाहा की चुनावी सभाएं होंगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस