पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Assembly Election 2020: कांग्रेस ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को फिसड्डी बाबू बताते हुए कहा है कि नीतीश कुमार ने बिहार को बदहाली के कगार पर पहुंचा दिया है। कांग्रेस ने नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के हवाले यह उपनाम दिया। गुरुवार को कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने पटना में प्रेस से बात की और कहा कि प्रधानमंत्री ने शोध के बाद एक प्रामाणिक  दस्तावेज जारी किया है, जिसमें बिहार की बदहाली के लिए नीतीश बाबू और जदयू भाजपा को दोषी ठहराया है।

सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाले नीति आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल 19-20 की रिपोर्ट हाल ही में जारी की, जिसमें देश के सभी 28 राज्यों का मूल्यांकन 62 सूचकांक पर किया गया है। बेहद शर्मनाक पीड़ादायक परिणाम के साथ नीतीश सरकार जिसमें फिसड्डी आई है।

उन्होंने कहा कि लगभग सभी मापदंडों में नीतीश कुमार का नेतृत्व फेल साबित हुआ है। आंकड़े बताते हैं कि बिहार की 33.74 फीसद आबादी  गरीबी रेखा के नीचे जीने को मजबूर है जनसंख्या के आधार पर बड़े राज्यों में यह सबसे अधिक है । उन्होंने कहा 20 20 की जनगणना के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं उसके मुताबिक बिहार की आबादी 12.47 करोड़ है जिसमें से 4.21 करोड लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं। सुरजेवाला ने कहा बिहार में 12वीं कक्षा में ड्रॉपआउट रेट 39.74 है। जो भारत मे सर्वाधिक है। इतना ही नहीं बिहार में मात्र 24.53 फीसद शिक्षक ही ट्रेंड हैं। उच्च शिक्षा में ग्रास इनरोलमेंट रेश्यो में भी बदहाली का आलम यह है कि यह मात्र 13.6 फीसद के करीब है। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट बताती ही कि बिहार ही एकमात्र ऐसा राज्य है जहाँ 8727 स्कूलों में लड़कियों के लिए शौचालय नहीं हैं। 58 प्रतिशत गर्भवती महिला खून की कमी से पीड़ित हैं जबकि 42 प्रतिशत बच्चे कुपोषण के शिकार हैं।

सुरजेवाला ने कहा कि मनरेगा में बिहार में मजदूरों की भागीदारी भी काफी कम है। प्रधानमंत्री आवास योजना तथा एलपीजी गैस इस्तेमाल में भी प्रदेश पिछड़ा हुआ है। सुरजेवाला ने कहा इस देश में 2 सबसे बड़े झूठे नेता हैं जिन्होंने मिलकर बिहार को बदहाली के कगार पर पहुंचा दिया है।  प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा सोशल मीडिया के अध्यक्ष रोहन गुप्ता कांग्रेस विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा संजीव कुमार आनंद माधव के अलावा दूसरे कई नेता मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस