पटना, जेएनएन। Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में प्रत्‍याशियों (candidates) के हलफनामे (Affidavits) अजब-गजब जानकारियां दे रहे हैं। जानकारियां ऐसी कि उनके आगे तो मेडिकल साइंस (Medical Science) भी पानी भरे। किसी की उम्र समय के साथ कम हो रही है तो किसी की ठहर गई है। किसी की उम्र वक्‍त की रफ्तार से अधिक बढ़ रही है। अब इसे आप चुनाव में उम्र घोटाला (Age Scam) कहें तो यह आपकी अपनी समझ है।

हलफनामे में उम्र को लेकर अजग-गजब जानकारियां

बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन (Nomination) हो रहा है। इसमें प्रत्‍याशियों के हलफनामे उनकी उम्र को लेकर अजग-गजब जानकारियों से भरे पड़े हैं। कुछ अपनी उम्र कम तो कुछ अधिक बता रहे हैं।

जय कुमार सिंहः पांच साल में बड़े हो गए 10 साल

जनता दल यूनाइटेड (JDU) के जय कुमार सिंह (Ja Kumar Singh) दिनारा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। वे तीन बार के विधायक हैं। वर्तमान में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की सरकार में मंत्री हैं। उनकी उम्र पांच साल में 10 साल बढ़ गई है। 2015 के चुनाव में उनके हलफनामे के अनुसार तब उनकी उम्र 46 साल थी। इस बार के हलफनामे में वे अपनी उम्र 56 साल बता रहे हैं। खास बात यह है कि बिहार विधानसभा की वेबसाइट पर उनकी जन्‍म तिथि एक मार्च 1963 है। इसे सही माने तो उनकी उम्र 57 साल और सात महीने होनी चाहिए।

रामानंद मंडलः पांच साल में आठ साल बढ़ गई उम्र

जेडीयू के टिकट पर सूर्यगढ़ा से प्रत्‍याशी बने रामानंद मंडल (Ramanand Mandal) ने अपने हलफनामा में 55 वर्ष की उम्र बताई है। हालांकि, पांच साल पहले पिछले चुनाव में जब वे लखीसराय सीट से खड़े हुए थे, उन्‍होंने उम्र 47 साल बताई थी। इस तरह पांच साल में वे आठ साल बढ़े हैं।

ज्ञानेंद्र कुमार सिंहः ये भी पांच साल में हुए 10 साल बड़े

बाढ़ सीट से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रत्‍याशी ज्ञानेंद्र कुमार सिंह (Gyanendra Kumar Singh) पिछली बार भी यहीं से विधायक बने थे। बीते विधानसभा चुनाव के दौरान उनके हलफनामे के अनुसार उनकी उम्र 51 साल थी, जाे पांच साल बाद 61 साल हो गई है। बिहार विधानसभा की वेबसाइट के अनुसार भी उनकी उम्र 61 साल ही होनी चाहिए। वहां उनकी जन्‍मतिथि 19 जून 1959 बताई गई है।

बृजकिशोर विंदः इनकी उम्र भी नहीं आई समझ

बीजेपी के बृजकिशोर विंद (Braj Kishor Bind) दो बार से चैनपुर सीट से विधायक बन रहे हैं। इस बार भी वे चैनपुर से प्रत्‍याशी हैं। बिहार विधानसभा की वेबसाइट पर उनकी जन्‍मतिथि एक जनवरी 1966 को सही मानें तो अभी उम्र 54 साल नौ महीने होनी चाहिए, लेकिन 2015 के चुनाव में दाखिल उनके हलफनामा में उसी समय 56 साल उम्र बताई गई थी तो इस बार 61 साल है।

सरोज यादवः ये तो पांच साल में छोटे हो गए तीन साल

राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के सरोज यादव (Saroj yadav) ने तो कमाल कर दिया है। बड़हरा सीट से प्रत्‍याशी सरोज यादव बड़हरा के विधायक भी हैं। साल 2015 के उनके हलफनामा के अनुसार वे 33 साल के थे। जबकि इस चुनाव में उन्‍होंने खुद उम्र का रिवर्स गियर लगाते हुए खुद को 30 साल का बताया है।

राजेश कुमारः इनका भी लगा दो साल का रिवर्स गियर

सरोज यादव ने जब उम्र का रिवर्स गियर लगाया तो महागठबंधन (Grand Alliance) में  उनके सहयोगी दल कांग्रेस (Congress) के कुटुम्बा सीट से प्रत्‍याशी राजेश कुमार (Rajesh Kumar) भला क्‍यों पीछे रहते? बिहार विधानसभा की वेबसाइट पर उनकी जन्‍मतिथि 28 जनवरी 1976 है, जिसके अनुसार वे 53 साल आठ महीने के हैं। हालांकि, चुनावी हलफनामे में वे 51 साल के ही हैं।

सत्यदेव सिंहः इनमें कौन सही कौन गलत कौन जाने? 

जेडीयू के कुर्था से प्रत्‍याशी सत्यदेव सिंह (Satyadeo Singh) की जन्‍मतिथि विधानसभा की वेबसाइट पर 20 जून 1950 है। इसके अनुसार वे 70 साल सेअधिक के हो चुके हैं। लेकिन इस चुनाव में उनके हलफनामा के अनुसार वे 61 साल के ही हें। पिछले चुनाव में भी उन्‍होंने अपनी उम्र 56 साल बताई थी। अब या तो विधानसभा की वेबसाइट पर गलत जानकारी है या हलफनामा में गलती हुई है।

निक्की हेम्ब्रमः गजब! इनकी तो ठहर ही गई है उम्र

कहा जाता है कि महिलाएं उम्र छिपाती हैं। बीजेपी की निक्की हेम्ब्रम (Nikki Hembram) ने शायद इसे सही साबित किया हे। वे कटोरिया सीट से प्रत्‍याशी हैं। पिछले चुनाव के अपने हलफनामा में उन्‍होंने अपनी उम्र 42 साल बताई थी, जो पांच साल बाद इस साल के चुनावी हलफनामा में भी 42 साल ही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021