पटना, जेएनएन। Rahul Gandhi Bihar Election Rally राजद प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करने नवादा के हिसुआ पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि जब बिहार के युवा सैनिक शहीद हुए उस दिन पीएम ने क्या किया? प्रधानमंत्री ने सेना का अपमान किया। उन्होंने पूछा कि पीएम ये बताइए कि चाइना को हिंदुस्तान से कब बाहर करेंगे?

पूंजीपतियों के पास होंगे गरीबों के पैसे

राहुल ने जनता से पूछा कि बताइए नोटबंदी का आपको क्या फायदा हुआ? उन्होंने कहा कि गरीब का पैसा हिंदुस्तान के अमीरों के खाते में भेजा गया। उन्होंने कहा कि अंबानी और अडानी के लिए नरेंद्र मोदी रास्ता साफ कर रहे हैं। आने वाले समय में हिंदुस्तान के पूंजीपतियों के पास गरीबों के पैसे होंगे। 

बिहार का विकास करने वाली सरकार लानी है

राहुल ने कहा कि कोरोना हुआ तो नीतीश जी ने दूसरे प्रदेशों में रह रहे राज्य के लोगों को भगाकर बिहार भेजा। जब लोग भूखे थे तो नरेंद्र मोदी ने क्या मजदूरों की मदद की? भूखे हो तो क्या हुआ, प्यासे हो तो क्या हुआ, कुछ भी हो जाए उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। राहुल ने कहा कि बिहार का विकास करने वाली सरकार लानी है। बिहार इसबार सच्चाई को पहचानने जा रहा है। सही जवाब इसबार नरेंद्र मोदी को मिलेगा। अपने संबोधन के आखिर में उन्होंने कांग्रेस और राजद प्रत्याशियों को वोट देने की अपील की। 

जिसने 15 साल काम न किया उसे पांच साल और क्या देना

सभा को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि पहली कैबिनेट में मेरी कलम दस लाख नौजवानों को रोजगार देने के लिए चलेगी। उन्होंने कहा कि बिहार में घूसखोरी बढ़ी है। बिना घूस के कोई काम नहीं होता है। 15 साल में बिहार में क्या हुआ ये सब को पता है। जिनके पास रोजगार था उनसे भी मोदी-नीतीश ने छीन लिया। तेजस्वी ने कहा कि नीतीश जी से बिहार संभलने वाला नहीं। उन्होंने कहा कि जिसने 15 साल काम नहीं किया उसे पांच साल क्या देना। उन्होंने कहा कि नौकरी के लिए फॉर्म भरने के लिए पैसे नहीं लिए जाएंगे। वृद्धा पेंशन 15 सौ रुपये कर दी जाएगी। तेजस्वी ने कहा कि नौ नवंबर को लालू यादव की रिहाई है, और दस नवंबर को नीतीश जी की विदाई है। 

 

पूर्णिया में नहीं मिली सभा की इजाजत

पूर्णिया में भी राहुल गांधी की सभा होनी थी, लेकिन नहीं हो सकेगी। कांग्रेस विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने बताया कि पूर्णिया एयरबेस पर निर्माण कार्य चलने की वजह से पूर्णिया में प्लेन को लैंड करने की अनुमति नहीं मिली, इस वजह से पूर्णिया की सभा का कार्यक्रम तय नहीं हो पाया है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस