पटना, जेएनएन। Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव में कई पुराने मुद्दे उछल रहे हैं। विपक्ष मुजफ्फरपुर के बालिका गृह दुष्‍कर्म कांड का मुद्दा पहले से ही उछालता रहा है, अब उसने शराबी चूहों की भी एंट्री करा दी है। ये वही चूहे हैं, जो शराबबंदी के दौर में थानों में रखी शराब गटक गए थे। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सासंद मनोज कुमार झा (Manoj Kumar Jha) ने कहा कि मुजफ्फरपुर के बालिका गृह कांड (Muzaffarpur Shelter Home Case) के साथ-साथ जनता उन 'बनैले चूहों' का भी हिसाब नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की सरकार से लेगी, जो लाखों लीटर शराब पीकर बांध कुतर जाते हैं। जनता सब जानती है।

बोले: बनैले चूहों का समाने आएगा नाम

मनोज झा ने कहा कि मुजफ्फरपुर में सरकारी संरक्षण में बच्चियों के साथ दुष्‍कर्म हुआ। इस अमानवीय कृत्य के बारे में हर बिहारी चुनाव में पूछेगा। इसके साथ उन 'बनैले चूहों' का भी नाम सामने आएगा, जो लाखों लीटर शराब पी गए, बांध कुतर गए।

तेज प्रताप व राबड़ी ने भी उठाए थे सवाल

विदित हो कि इसके पहले आरजेडी नेता व पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने भी नवरात्रि की शुभकामनाएं देने के बहाने मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड को लेकर नीतीश कुमार पर हमला किया था। उन्‍होंने अपने ट्वीट में जनता का आह्वान करते हुए लिखा था कि वह बालिका गृह कांड जैसा घिनौना कुकृत्य करने वाले सृजनकारी राक्षसों का इस नवरात्र जरूर 'उद्धार' करे। तेज प्रताप यादव की मां राबड़ी देवी ने भी ट्वीट किया था कि नीतीश कुमार व भारतीय जनता पार्टी ने 34 अनाथ बच्चियों के दुष्‍कर्मियों को और उनके संरक्षकों को टिकट दिए हैं। उनके राक्षस राज में महिलाएं और बच्चियां असुरक्षित हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस