परसा (सारण)। नौ नवंबर को लालू प्रसाद की रिहाई और दस नवंबर को नीतीश सरकार की विदाई तय है। सत्ता संभालते ही 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का वादा पूरा करेंगे। ये बातें पूर्व उपमुख्यमंत्री व प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने मंगलवार को परसा विधानसभा क्षेत्र के रहमत बालिका उच्च विद्यालय मस्तिचक के खेल मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कहीं। तेजस्वी यादव ने कहा कि आंगनबाड़ी सेविकाओं एवं जीविका की सेवा नियमित करने तथा शिक्षकों को समान काम के लिए समान वेतन देने की बात कहीं। तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश चाचा थक गए हैं। इसलिए अब उनसे बिहार नहीं संभल रहा। 15 साल में नीतीश चाचा बिहार में एक भी कल-कारखाना नहीं खोल सके तो पांच साल में क्या करेंगे? कोरोना काल में मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों के साथ मजाक किया। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिला सके और न ही विशेष पैकेज ले सके। तेजस्वी ने अपने पिता लालू प्रसाद के कार्यकाल में बिहार में हुए विकास का उल्लेख किया।

चुनावी सभा को ई. छठिलाल यादव, प्रीतम यादव, शैलेंद्र विद्यार्थी, कुमार अशोक, अलबेला राय, डॉ रवि,चंद्रदेव सिंह, सुनील राय, रवि प्रकाश, अजय राय, हरेंद्र राय, अखिलेश राय, महेश सिंह , डॉ. महात्मा प्रसाद गुप्ता, महेश प्रसाद गुप्ता, लालमोहन राय, किशोर राय, ललिता प्रसाद, मीणा देवी ने संबोधित किया। सभा की अध्यक्षता चंद्रदेव सिंह व संचालन रवि प्रकाश ने किया।

भीड़ को नियंत्रण करने के लिए सुरक्षाकर्मियों को करनी पड़ी मशक्कत

तेजस्वी को करीब से देखने के लिए भीड़ बेकाबू होकर डी एरिया में प्रवेश कर गई। तेजस्वी को मंच से हेलीकॉप्टर तक ले जाने में सुरक्षाकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस