तिंगखोंग (असम), प्रेट्र। असम विधानसभा के लिए चुनाव प्रचार में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस को अवसरवादी राजनीति को लेकर कठघरे में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हाथी की तरह है, जिसके खाने के दांत अलग और दिखाने के अलग हैं।

डिब्रूगढ़ जिले के तिंगखोंग में चुनावी रैली में नड्डा ने कहा कि भाजपा का मतलब विकास और कांग्रेस का मतलब अंधकार। जो लोग चाहते हैं कि चुनाव बाद असम का भविष्य अंधकारमय हो जाए, वो कांग्रेस के साथ जा सकते हैं। लेकिन जिन्हें विकास चाहिए वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चलें।

भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस का एक मात्र मकसद अवसरवादी राजनीति है। केरल में वह मुस्लिम लीग के साथ मिलकर माकपा से लड़ रही है और बंगाल एवं असम में माकपा के साथ मिलकर गठबंधन बनाया है। असम में कांग्रेस के लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई ने कभी भी बदरुद्दीन अजमल की पार्टी आल इंडिया यूनाइडेट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआइयूडीएफ) के साथ गठबंधन नहीं किया। उनके नहीं रहने पर उनके पुत्र ने अजमल के साथ हाथ मिला लिया। उन्होंने पूछा कि यह अवसरवादी राजनीति नहीं है तो क्या है?

उन्होंने कहा, हाथी की तरह कांग्रेस के भी दो दांत हैं। एक खाने के लिए दूसरा दिखाने के लिए। कांग्रेस जो कहती है ठीक उसके विपरीत करती है। वह समाज को बांट रही है।

कांग्रेस ने असम-पूर्वोत्तर की कभी सुध नहीं ली

नड्डा ने कहा कि कांग्रेस ने असम और पूर्वोत्तर की कभी सुध नहीं ली। इस क्षेत्र के विकास की तरफ ध्यान नहीं दिया। उसने असम की सभ्यता पर हमला किया, उसकी संस्कृति को किनारे लगाया। लेकिन भाजपा यहां विकास लेकर आई और असम की संस्कृति और भाषा का संरक्षण किया। बोडो समस्या को कभी सुलझाने की कोशिश नहीं, भाजपा के सत्ता में आने पर बोडो समझौता हुआ। 

प्रियंका पर निशाना

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा उल्लेख करते हुए नड्डा ने कहा कि कांग्रेस की एक नेता जब असम में चाय बगान में गई थीं तो उनके इंटरनेट मीडिया हैंडल से श्रीलंका और ताइवान के फोटो शेयर किए गए। भाजपा नेता ने कहा कि फोटो में प्रियंका गांधी वाड्रा चाय की पत्तियां तोड़ती नजर आ रही हैं, लेकिन जहां तक उन्हें जानकारी है चाय की पत्तियां अप्रैल के बाद तोड़ी जाती हैं। साफ है कांग्रेस लोगों को धोखा दे रही है।