नई दिल्ली [नीलू रंजन]। असम में पहले चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार खत्म होने के पहले भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी के बाद सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तीन-तीन रैलियों को संबोधित किया। बिहार के उद्योग मंत्री शहनवाज हुसैन ने भी रैली की। मंगलवार को जेपी नड्डा भाजपा का घोषणा पत्र जारी करेंगे और साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी जनसभाओं को संबोधित करेंगे। बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी एक बार फिर असम में होंगे। गुरुवार को पहले चरण का चुनाव प्रचार खत्म हो जाएगा।

सोमवार को रैलियों को संबोधित करते हुए अमित शाह और जेपी नड्डा ने कांग्रेस की सरकारों के दौरान आतंकवाद, घुसपैठ, अतिक्रमण और विकास के अभाव का मुद्दा उठाया। दशकों से अवैध घुसपैठ से जूझ रहे असम की जनता को कांग्रेस की बदरुद्दीन अजमल की पार्टी एआइयूडीएफ के साथ गठबंधन के प्रति आगाह करते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस यदि सत्ता में आई तो घुसपैठ को और बढ़ावा मिलेगा। बोडो बहुल उदालगुड़ी में जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने लोगों को याद दिलाया कि कांग्रेस के शासनकाल में कैसे हर दिन आतंकी हमले होते थे। आतंकी हमलों में लगभग पांच हजार लोग मारे गए थे। लेकिन पिछले पांच साल में भाजपा के शासनकाल में असम में शांति बहाली में सफलता मिली है और दो हजार आतंकियों ने आत्मसमर्पण किया और अब उनके पुनर्वास का काम किया जा रहा है। उन्होंने बोडो के सभी पक्षों के साथ समझौते और सफलतापूर्वक बीडीसी चुनाव का हवाला देते हुए कहा कि असम अब आतंकवाद से निकलकर विकास के रास्ते पर चल पड़ा है।

भाजपा असमिया अस्मिता की रक्षक

घुसपैठ और आतंकवाद से असम को मुक्त करने के साथ ही अमित शाह ने असमिया अस्मिता और संस्कृति को बचाने और बढ़ाने के भाजपा सरकार के प्रयासों को भी गिनाया। उन्होंने कहा कि शंकरदेव की कर्मस्थली को अतिक्रमण से मुक्त कराया जा चुका है और अब शंकरदेव की शिक्षा का पूरे देश में प्रचार-प्रसार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अगले पांच सालों में असम को बाढ़ मुक्त बनाने पर काम शुरू कर दिया है और इसके लिए सैटेलाइट से मैपिंग की जा रही है।

भाजपा ने असम के सपूतों का किया सम्मान

भाजपा नड्डा ने याद दिलाया कि असम को दो ही भारत रत्न मिले हैं और दोनों भाजपा के शासनकाल में। 1999 में गोपीनाथ बर्दोलोई को अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने भारत रत्न दिया था। जबकि भूपेन हजारिका को मोदी सरकार के काल में भारत रत्न दिया गया।

कांग्रेस मतलब अंधकार : नड्डा

नड्डा ने कहा कि असम की जनता जानती है कि कौन फोटो ¨खचवाने आ रहा है और कौन असम के विकास के लिए समर्पित है। उन्होंने कहा कि अंधकार, अशांति और पिछड़ापन चाहिए तो कांग्रेस को वोट दीजिए लेकिन विकास, शांति और समृद्धि चाहिए तो भाजपा ही एकमात्र विकल्प है। नड्डा ने कहा कि असम से सांसद और प्रधानमंत्री रहने के बावजूद मनमोहन सिंह राज्य को गैस की रॉयल्टी नहीं दिला सके थे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने यह कर दिखाया।

Edited By: Neel Rajput