गुवाहाटी, एएनआइ। असम विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को तमुलपुर में रैली को संबोधित किया। जब उनका भाषण चल रहा था तभी एक भाजपा कार्यकर्ता की तबीयत बिगड़ गई। वह बेहोश होकर गिरा तो प्रधानमंत्री की उसपर नजर पड़ गई। इसके बाद मंच से ही उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय की मेडिकल टीम को फौरन कार्यकर्ता की मदद करने का निर्देश दिया। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'ये जो पीएमओ की मेडिकल टीम है, वो जरा जाए वहां। पानी के अभाव में शायद कुछ तकलीफ हुई है। तुरंत उनकी जरा मदद कीजिए। मेरे साथ जो डॉक्टर्स आए हैं, वो जरा उस हमारे साथी की मदद करें। यहां का कोई अपना बंधु पानी के अभाव में शायद उसको तकलीफ हुई है।'

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने समय में असम को हिंसा, बम-बंदूक का लंबा दौर दिया। वहीं एनडीए सरकार असम के हर साथी को साथ लेकर शांति और समृद्धि के रास्ते पर आगे बढ़ रही है। हमारा तो मंत्र है सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास है। ये सेक्यूलरिज्म-कम्यूनिज्म के जो खेल चल रहा है इस खेल ने देश का बहुत नुकसान किया है। अगर हम समाज में भेदभाव करके, समाज के टुकड़े करके अपने वोटबैंक के लिए कुछ दे दें, तो दुर्भाग्य देखिए उसे देश में सेक्युलरिज्म कहा जाता है। लेकिन अगर सबके लिए काम करें, बिना भेदभाव के सबको देते हैं तो कहते हैं कि ये कम्युनल हैं।

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि असम में आप लोगों ने एक बार फिर एनडीए की सरकार बनाना तय कर लिया है। असम की पहचान का बार-बार अपमान करने वाले लोग, असम के लोगों को बर्दाश्त नहीं। असम को दशकों तक हिंसा और अस्थिरता देने वाले, अब असम के लोगों को एक पल भी स्वीकार नहीं हैं। असम के लोग विकास के साथ हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप