जयपुर, जेएनएन। कई राज्यों में सरकार बनाने के खेल में हार से सबक लेते हुए कांग्रेस ने असम के लिए दो मई को विधानसभा चुनाव नतीजे आने से पहले ही अपने लोगों को सहेजना शुरू कर दिया है। कांग्रेस के सहयोगी ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआइयूडीएफ) के 16 प्रत्याशियों को जयपुर लाया गया है। उनके साथ पांच अन्य लोग भी आए हैं। सूत्र बताते हैं कि ये सभी मतगणना तक यहीं रहेंगे। 

इन्‍हें दी गई देखरेख की जिम्‍मेदारी 

असम से आए इन नेताओं में कुछ पूर्व विधायक भी शामिल हैं। इन नेताओं को दिल्ली रोड स्थित फेयरमाउंट होटल में रखा गया है। राज्य सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी और कांग्रेस विधायक रफीक खान सहित चार अन्य लोगों को इनके देखभाल की जिम्मेदारी दी गई है। 

इसलिए लाए गए जयपुर 

जयपुर पहुंचे एआइयूडीएफ के प्रत्याशियों ने अनौपचारिक बातचीत में कहा कि असम में कांग्रेस गठबंधन और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला है। चुनाव परिणाम में बहुत कम अंतर से सरकार बनने की संभावना बन रही है। ऐसे में भाजपा अपने विरोधी दलों के जीतने वाले विधायकों की खरीद-फरोख्त कर सकती है। इसे देखते हुए विजयी प्रत्याशियों को खरीद-फरोख्त से बचाने के लिए जयपुर लाया गया है। 

कांग्रेस ने कही यह बात 

इस सियासी घटनाक्रम पर राजस्‍थान विधानसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी ने कहा कि हम यहां आने वाले लोगों का ख्याल रखेंगे। हम उनकी पार्टियों को नहीं जानते हैं और यह भी नहीं जानते हैं कि वे लोग यहां क्यों आए हैं। वे करीब 20 लोग हैं। कांग्रेस इन लोगों का खर्च उठाएगी। जब तक केंद्र में भाजपा की सरकार है विधायकों की खरीद फरोख्‍त की संभावना रहेगी।  

बदरुद्दीन बोले- नहीं जानता कितने लोग गए बाहर 

इस बीच AIUDF के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि दो तारीख को हमारी सरकार आएगी। जिन लोगों को हॉर्स ट्रेडिंग करने की आदत है वह करेंगे लेकिन इस बार हॉर्स ट्रेडिंग उस तरफ से नहीं हमारी तरफ से होगी। हमारे लोग कितने बाहर जा रहे हैं, मुझे इस बारे में कुछ भी पता नहीं है। भाजपा के विधायकों ने अभी हमसे संपर्क नहीं किया है। मैं झूठ नहीं बोलूंगा लेकिन वह करेंगे। जिस दिन हमारी सरकार आएगी भाजपा के विधायक हमसे संपर्क करेंगे। 

राजनीतिक पर्यटन का हब बना राजस्‍थान 

फेयरमाउंट होटल पिछले दो साल में राजनीतिक पर्यटन का राजस्थान हब बनता जा रहा है। अब तक महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और गुजरात के विधायक यहां आ चुके हैं। पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की बगावत के समय भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने समर्थक कांग्रेस विधायकों की इसी होटल में रखा था, जिसमें अब असम के नेताओं को ठहराया गया है। 

ये नेता आए जयपुर 

फेयरमाउंट होटल में ठहरे नेताओं में सुहाना रहमान, नरूल हुडा, जाकिर हुसैन, असमा खातून, समसुल, हफीज बसीर बसीर अहमद, अब्दुला अमीन, मिनाक्षी रहमान, निजानुर रहमान, रजीव अहमद, अमीनुल इस्लाम, सुजामुद्दीन, निजामुद्दीन चौधरी, अजरूल हक, अमीनुल इस्लाम, असरफुल हुसैन, सलाम व करीमुद्दीन बरभुरूया शामिल हैं।

82.04 फीसद हुआ है मतदान

मालूम हो कि असम में विधानसभा चुनाव के लिए तीन चरणों में मतदान संपन्न हो चुका है। आगामी दो मई को नतीजे आएंगे। असम में एआईयूडीएफ प्रमुख बदरूद्दीन अजमल ने कांग्रेस के साथ गठबंधन किया है। असम की 126 विधानसभा सीटों पर तीन चरणों में हुए चुनावों में कुल 82.04 फीसद मतदान दर्ज किया गया था। अंतिम चरण में सबसे अधिक 85.20 फीसद मतदान हुआ था। एक अप्रैल को दूसरे चरण में 80.96 फीसद जबकि पहले चरण में 79.33 फीसद मतदाताओं ने वोट डाले थे।