कामरूप[असम], एएनआइ। Assam Assembly elections 2021, असम में विधानसभा चुनावों से पहले आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह असम में एक रैली कर रहे हैं। राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि  राहुल बाबा असम में पर्यटक बनकर आते हैं और कहते हैं कि बदरुद्दीन अजमल तो असम की पहचान हैं। अरे राहुल बाबा...आप असम को पहचान नहीं देते हो। महान असम की पहचान श्रीमंत शंकर देव और माधव देव, वीर सेनापति लाचित बोरफूकन है।कांग्रेस कितनी भी जोर लगा ले हम बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे।

अमित शाह ने कहा कि असम में घुसपैठियों को रोकने का काम बदरुद्दीन अजमल सरकार नहीं कर सकती है। उन्होंने कहा कि असम में घुसपैठियों को रोकने का काम केवल और केवल भाजपा की सरकार कर सकती है। मैं आज असम में कह कर जाता हूं कि कांग्रेस पार्टी कितना भी जोर लगा दे, बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे।

असम की 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों-27 मार्च, 1 और 6 अप्रैल को चुनाव होगा। मतगणना 2 मई को होगी। पहले चरण में 47 सीटों पर 267 उम्मीदवार खड़े हुए हैं। यहां चुनाव प्रचार थम चुका है। अब बाकी बची सीटों पर जोरआजमाइश शुरू हो गई है।

असम में बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि भाजपा ने असम को आंदोलन मुक्त और आतंकवाद मुक्त बनाया है। अब असम को रोजगार युक्त, बाढ़ मुक्त बनाएंगे। असम को एक विकसित राज्य बनाने का काम भाजपा सरकार करेगी। भाजपा के संकल्प पत्र में ढेर सारी बाते हैं मगर सबसे बड़ी बात 'लव जिहाद' और 'लैंड जिहाद' के खिलाफ कानून  लाने का काम भाजपा की सरकार करेगी।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस का घोषणा पत्र चुनाव प्रचार के लिए होता है और भाजपा का घोषणा पत्र अमल करने के लिए होता है। उन्होंने कहा कि हमने तय किया है 8वीं कक्षा के बाद सभी बेटियों को साइकिल दी जाएगी। कॉलेज जाने वाली सभी बेटियों को स्कूटी दी जाएगी। कॉलेज जाने वाली हर छात्रा को स्कूटी देंगे। 2 लाख सरकारी नौकरियां और 8 लाख प्राइवेट नौकरियों का सर्जन 2022 से पहले किया जाएगा।

Edited By: Shashank Pandey