पंजाब में स्थानीय निकाय चुनाव के लिए नामांकन के दौरान जिस प्रकार की हिंसा हुई, यह लोकतंत्र के लिए अच्छे संकेत नहीं है। देश में सत्ता के विकेंद्रीकरण और जमीनी स्तर पर लोकतंत्र को मजबूत करने के उद्देश्य से ही निकाय के चुनाव की व्यवस्था बनाई गई है। यह लोकतांत्रिक व्यवस्था की प्रथम पाठशाला है। अगर इस स्तर पर ही हिंसा करने वाले लोग चुनाव का हिस्सा बनेंगे और ऐसे लोग जब प्रदेश या देश की राजनीति में आएंगे तो लोकतंत्र का भविष्य कितना अंधकारमय होगा, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है। पिछले कुछ वर्षों में यह देखने में आया है कि निकाय चुनाव में हिंसा होती है। प्रदेश में जिस दल की सरकार होती है, वह दूसरे को चुनाव लडऩे से वंचित रखना चाहता है। इसी कारण हिंसा की स्थिति पैदा होती है। यह प्रवृत्ति ठीक नहीं है। अगर जनमत आपके साथ है तो चुनाव के मैदान में सामने कोई हो, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। इस हिंसा के लिए जहां सरकार और राजनीतिक दल जिम्मेदार हैं, वहीं चुनाव आयोग की मूकदर्शक वाली भूमिका भी कम दोषी नहीं है। राजनीतिक दलों की ओर से उम्मीदवारों के चयन में देरी के कारण भी हिंसा फैलती है। देखा यह जा रहा है राजनीतिक दल नामांकन की अंतिम तिथि पर उम्मीदवार की घोषणा करते हैं। एक ही दिन नामांकन करने की होड़ लगेगी तो माहौल बिगडऩे की आश्ंाका बढ़ जाती है। इस बार ऐसा ही हुआ। नामांकन पत्र दाखिल करने के अंतिम दिन सभी दलों के उम्मीदवार पहुंचे। भारी भीड़ के बीच तनाव पैदा हो गया और स्थिति नियंत्रण के बाहर हो गई। लोकतंत्र की जड़ को स्वस्थ और मजबूत बनाए रखने के लिए यह जरूरी है कि चुनाव हिंसा मुक्त हों। ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण स्थित से बचने के राजनीतिक दलों को उम्मीदवारों का चयन पहले से ही कर लेना चाहिए। साथ ही अपने समर्थकों पर उनका नियंत्रण होना चाहिए। इसके लिए अनियंत्रित और अनुशासनहीन कार्यकर्ताओं पर कठोर कार्रवाई भी करनी चाहिए, ताकि भविष्य में कोई लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाने का दुस्साहस न कर सके। चुनाव आयोग को भी चाहिए कि ऐसे अनियंत्रित कार्यकर्ताओं वाले राजनीतिक दलों के खिलाफ सख्त कदम उठाए।
-----------
हिंसा मुक्त चुनाव के लिए अनुशासनहीन कार्यकर्ताओं पर कठोर कार्रवाई करनी चाहिए, ताकि भविष्य में कोई लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाने का दुस्साहस न कर सके। 

[ स्थानीय संपादकीय: पंजाब ]

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस