[ क्षमा शर्मा ]: हाल में खबर आई कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी और बहू ऐश्वर्या के बीच लड़ाई बहुत बढ़ गई है। दोनों अपनी-अपनी शिकायतें पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा चुकी हैं और बेचारी पुलिस की हालत ‘भई गति सांप छछूंदर केरी’ हो गई है। किसका पक्ष लें और किसकी शिकायत को सही मानें। बेचारे स्त्री-विमर्श वाले भी क्या करेंगे। एक आम आदमी होता तो फैसला करना भी कितना सरल होता, मगर यहां तो हाई प्रोफाइल दो महिलाओं का मामला है। किधर जाएं?

बेटों के लिए मॉल में जाने वाली नहीं, घर चलाने वाली बहू चाहिए

कई साल पहले राबड़ी देवी ने कहा था कि उन्हें अपने बेटों के लिए मॉल में जाने वाली नहीं, घर चलाने वाली बहू चाहिए। अब घर चलाने वाली बहुओं की परिभाषा क्या है, यह तो राबड़ी ही जानें, मगर जब ऐश्वर्या से उनके बेटे की शादी की खबरें आई थीं तो यही लगा था कि आखिर राबड़ी तैयार कैसे हुईं, क्योंकि उनके बयान से तो यही महसूस होता था कि उन्हें ऐश्वर्या जैसी आधुनिक जीवनशैली में पली-बढ़ी लड़की नहीं चाहिए। शादी के बाद ऐश्वर्या के साइकिल पर बैठे और तेजप्रताप द्वारा उस साइकिल को चलाते चित्र भी दिखे थे। फिर उनमें और छोटे भाई तेजस्वी में मन-मुटाव की खबरें आने लगीं तो कहा जाने लगा कि इन सबके पीछे ऐश्वर्या ही हैं।

ऐश्वर्या एमबीए हैं, जबकि तेजप्रताप कम पढ़े हैं

बताते चलें कि ऐश्वर्या एमबीए हैं, जबकि तेजप्रताप कहीं कम पढ़े हैं। जब तेजप्रताप का अपनी पत्नी से मनमुटाव हुआ तो वह कहने लगे कि उनसे उनकी नहीं पट सकती। वह साधारण किस्म के इंसान हैं, जबकि वह बहुत महत्वाकांक्षी हैं।

तलाक की अर्जी पर लालू यादव बहुत नाराज थे

जब उन्होंने तलाक की अर्जी दी तब बताया गया कि लालू प्रसाद यादव इस बात से बहुत नाराज हैं। वह तेजप्रताप को समझाने में लगे हैं। तभी ऐसी खबरें भी आने लगीं कि ऐश्वर्या को रोते हुए घर से निकलते देखा गया। इसके बाद तेजप्रताप के तरह-तरह के चित्र भी नजर आने लगे थे। किसी में वह कृष्ण-कन्हैया बने दिखते तो किसी में शिव। हालांकि ऐश्वर्या ससुराल में ही रहती रहीं।

ऐश्वर्या ने सास और ननद पर दहेज के लिए तंग करने का लगाया आरोप

हाल में खबर आई कि ऐश्वर्या ने अपनी सास राबड़ी देवी और ननद मीसा भारती पर आरोप लगाया है कि उन्हें दहेज के लिए तंग किया जाता था। सास कहती थीं कि दहेज में एक कार तो ले आती। उन्हें खाना नहीं दिया जाता था। उनसे मार-पीट की जाती थी।

राबड़ी दोषी हैं या ऐश्वर्या? सच्चाई जांच-पड़ताल के बाद ही मालूम पड़ेगी

ऐश्वर्या की शिकायत पढ़कर लगा कि जो लालू सैकड़ों करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक कहे जाते हैं, बिहार के मुख्यमंत्री रहे हैं, राबड़ी भी मुख्यमंत्री रह चुकी हैं, क्या वह एक मामूली कार के लिए अपनी बहू को सताएंगी। इसी प्रकार खाना न देना जैसी बात पर भी विश्वास नहीं होता। राबड़ी दोषी हैं या ऐश्वर्या, कौन बता सकता है? सच्चाई तो जांच-पड़ताल के बाद ही मालूम पड़ेगी।

खतरे को भांपते हुए राबड़ी ने भी बहू ऐश्वर्या के खिलाफ शिकायत की

ये खबरें भी आईं कि राबड़ी गिरफ्तार हो भी सकती हैं। शायद इसी खतरे को भांपते हुए राबड़ी ने भी बहू ऐश्वर्या के खिलाफ शिकायत की कि वह उनके साथ मारपीट करती है। उससे उन्हें जान का खतरा है। दोनों शिकायतों पर अगर गौर करें तो एक तरफ जहां बहू को दहेज निरोधी धारा 498ए और घरेलू हिंसा के खिलाफ बने कानून मदद देंगे तो वहीं राबड़ी को बूढ़े माता-पिता को सताने पर बच्चों को जेल भेजने संबंधी बिहार सरकार के फैसले और बूढ़ों के प्रति हिंसा के खिलाफ बने कानून की मदद मिलेगी।

संभव है कि दोनों में सुलह हो जाए

इस प्रकार दोनों की शिकायतें एक-दूसरे को संतुलित करेंगी और हो सकता है कि किसी को भी कोई सजा न मिले। यह भी संभव है कि दोनों में सुलह हो जाए।

अरुण नेहरू की बेटी ने भी अपने पति के खिलाफ दहेज प्रताड़ना की शिकायत दर्ज कराई थी

इस पूरे प्रकरण से किसी जमाने में कांग्रेस के बड़े नेता रहे अरुण नेहरू की बेटी की भी याद आती है जिसने अपने पति के खिलाफ दहेज प्रताड़ना की शिकायत दर्ज कराई थी। हालांकि दहेज के लिए किसी औरत को कहीं भी सताया जा सकता है।

दहेज प्रताड़ना का मामला मीडिया में तभी मचता है जब नामी-गिरामी परिवार उससे जुड़ा हो

यह बात सच है, लेकिन ऐसी शिकायतों का हल्ला मीडिया में तभी मचता है जब मामला किसी नामी-गिरामी परिवार से जुड़ा हो। वरना तो किसी आम औरत, चाहे वह बहू हो या सास, उसकी पहुंच न पुलिस तक हो पाती है और न ही उसे कानूनी सहायता मिल पाती है। उसकी मदद के लिए राजनीतिक दल या नागरिक संगठन भी तभी आगे आते हैैं जब इसमें उन्हें कोई फायदा नजर आता है।

महिला कानूनों और बुजुर्गों के कानूनों को लेकर लालू परिवार में मची होड़

कुल मिलाकर महिला कानूनों और बुजुर्गों के कानूनों को अपने-अपने पक्ष में करने की जो होड़ लालू परिवार में चल रही है, वहां न्याय किसे मिलेगा, यह देखना दिलचस्प होगा।

( लेखिका साहित्यकार हैैं )

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस