कई बार हेडफोंस का इस्तेमाल करना बहुत ज़रूरी होता है पर बैग में रखे रहने के कारण वे उलझ जाते हैं। उनको सुलझाने में होने वाले इरिटेशन से बचने के लिए यंगस्टर्स उन्हें वापस बैग या पॉकेट में रख देते हैं। इस समस्या से बचने के लिए अकसर हेडफोंस का इस्तेमाल करने वाले लोग ब्लूटुथ हेडफोंस का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। जानते हैं उनके बारे में।

समझें अपनी ज़रूरत
हेडफोंस का इस्तेमाल कई कारणों से किया जाता है, मसलन कॉलिंग के लिए, कभी भी म्यूजि़क सुनने के लिए या एक्सरसाइज़ के वक्त म्यूजि़क सुनने के लिए। कोई भी ब्लूटुथ हेडफोन खरीदने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि उन्हें आराम से कुछ घंटों तक यूज़ किया जा सकता है या नहीं। अगर लंबे समय तक इस्तेमाल करना हो तो डिज़ाइनर इन ईयर या ऑन द ईयर हेडफोंस लेने के बजाय हाई क्वॉलिटी के ऑप्शन चुनें।

बजट व स्टाइल
ब्लूटुथ हेडफोन लेते समय ध्यान रखें कि वह वज़न में हलका हो और उसे लगाने पर आपकी हेयरस्टाइल भी खराब न हो रही हो। मार्केट में इन हेडफोंस की बड़ी रेंज उपलब्ध है। ये 1,500 रुपये से लेकर 90,000 रुपये तक की रेंज में मिल जाएंगे। बजट और फीचर्स का संतुलन बनाए रखना बेहतर होगा। मिड-सेग्मेंट का अच्छा ब्लूटुथ हेडफोन खरीदने के लिए 3 हज़ार रुपये तक का बजट ज़रूर तय करें।

रेंज हो सही
ब्लूटुथ हेडफोन लेते समय उसकी रेंज भी पता कर लें, रेंज ऐसी होनी चाहिए जो एक निश्चित दूरी से डिवाइस के साथ लगातार कनेक्ट रह सके। 10 मीटर की रेंज को पर्याप्त माना जा सकता है। कॉलिंग के लिए हेडफोन यूज़ करने वालों को साउंड कैंसिलेशन वाला हेडफोन लेना चाहिए।

वर्ल्ड ऑफ हेडफोंस

-इन ईयर : इन्हें कान के छेद के अंदर फिट किया जाता है।
-ईयर बड : इन्हें कानों में फिट किया जाता है पर छेद से बाहर रहते हैं।
-ऑन द ईयर : इन्हें कानों के ऊपर फिट किया जाता है।
-ओवर द ईयर : ये कानों को पूरी तरह से ढक देते हैं।
-हार्डवेयर वाले : इनमें एमपीथ्री स्टोरेज और एफएम की सुविधा होती है।

टेक डेस्क

Posted By: Pratibha Kumari