जागरण संवाददाता, पूर्वी दिल्ली : गांधीनगर में एक निर्माणाधीन मकान में हादसे के शिकार हुए विलास नामक मजदूर के परिवार को गांधीनगर के दो समाजेसवियों ने आर्थिक मदद दी है। पार्षद श्याम सुंदर अग्रवाल के प्रयासों से समाजसेवी रामाकांत शर्मा और ललित कंबोज ने डेढ़ लाख रुपये विलास की पत्नी के खाते में जमा करवा दिए हैं। विलास की मौत 17 अगस्त को हुई थी।

इस मामले को रघुबरपुरा वार्ड के पार्षद श्याम सुंदर अग्रवाल ने निगम में उठाया था। मामले की जांच में पता चला कि यहां अवैध निर्माण हो रहा था। इस मामले में एक इंजीनियर पर भी कार्रवाई हुई थी। साथ ही ठेकेदार के खिलाफ भी केस दर्ज हुआ था। श्याम सुंदर अग्रवाल ने बताया कि हादसे के बाद वह विलास के परिवार से मिले थे। परिवार में उनकी पत्नी रूना देवी और तीन व एक साल की दो बेटियां हैं। तीनों विलास पर ही निर्भर थे। ये परिवार अब बिहारीगंज, मधेपुरा, बिहार में रहता है। श्याम सुंदर अग्रवाल ने दोनों समाजसेवियों से बात की। इसके बाद रूना देवी के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के खाते में डेढ़ लाख रुपये डाले गए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस