नई दिल्ली (जेएनएन)। दिल्ली की विभिन्न झुग्गियों के कैंप में रहने वाले प्रतिभावान बच्चों को गोद लेने के लिए केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन की पूर्व संध्या पर किया। मावलंकर हॉल में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और प्रकाश जावड़ेकर ने शिरकत कर झुग्गियों में रहने वाले बच्चों का उत्साह बढ़ाया।

ध्यान नहीं दे रही है दिल्ली सरकार 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विजय गोयल ने कहा कि यह कार्य दिल्ली सरकार का है कि झुग्गियों के युवाओं के लिए कुछ योजनाएं लेकर आएं, जिससे युवा नशे व अपराध जैसी गतिविधि में न पड़ें। दुख की बात है कि दिल्ली सरकार ने इस योजना की तरफ ध्यान नहीं दिया।

प्रतिभा बड़े घराने या कुल की मोहताज नहीं
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रतिभा बड़े घराने या कुल की मोहताज नहीं होती। झुग्गियों में रहने वाले कई बच्चे प्रतिभावान हैं पर संसाधनों के अभाव में उनकी प्रतिभा पूर्ण रूप से विकसित नहीं हो पाती। उनके माता-पिता भी आर्थिक रूप से इतने मजबूत नहीं हैं कि उनकी प्रतिभा को निखारने के लिए अलग से व्यवस्था कर सकें।

1000 बच्चों को गोद लिया जाएगा
गोयल ने कहा कि प्रतिभाओं को निखारने व संवारने के लिए स्लम के 1000 बच्चों को गोद लिया जाएगा। इसके तहत पहले बच्चों से फॉर्म भरवाकर उनकी प्रतिभा की जानकारी ली जाएगी। इसके बाद उनकी प्रतिभा को भी जांचा जाएगा, जिसके आधार पर बच्चों को चयनित किया जाएगा।

होनहार भारत का नाम रोशन कर रहे हैं
केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि इस योजना के तहत जिन बच्चों का चयन होगा उन्हें रेलवे विभाग दिल्ली से आगरा तक की सैर बिना किसी शुल्क के कराएगा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि प्रतिभा घर व शहर देखकर जन्म नहीं लेती। आज छोटे घरों और शहरों से अनेकों होनहार भारत का नाम रोशन कर रहे हैं।