जागरण संवाददाता, पूर्वी दिल्ली : नए विद्यार्थियों में कॉलेज छात्रसंघ चुनाव के लिए गजब का उत्साह देखने को मिला। चुनाव के निर्धारित समय से पहले ही विद्यार्थी कॉलेज में पहुंचने शुरू हो गए थे। पुराने विद्यार्थियों में नए विद्यार्थियों के जैसा उत्साह देखने को नहीं मिला। मतदान करने के बाद सबसे पहले विद्यार्थियों ने अपनी खुशी का इजहार सोशल साइट पर फोटो शेयर किया। कॉलेजों के बाहर खड़े छात्र संगठन के सदस्य नए विद्यार्थियों को रिझाते दिखे। कई कार्यकर्ता ढपली बजाते दिखे।

श्याम लाल कॉलेज, डॉ.भीमराव अंबेडकर कॉलेज, विवेकानंद कॉलेज और महाराजा अग्रसेन कॉलेज के बाहर एक तरफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीपीवी) व दूसरी तरफ भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) के कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने उम्मीदवारों के लिए जमकर नारेबाजी की। दोनों संगठनों के बीच कभी तल्खी तो कभी नरमी देखने को मिली। छात्र संघ के चुनाव के उम्मीदवारों के समर्थन में विधायक, पार्षद व राष्ट्रीय पार्टियों के कई नेता पहुंचे। विवेकानंद कॉलेज के बाहर विधायक ओपी शर्मा, पूर्व महापौर नीमा भगत, जोन चेयरमैन कंचन महेश्वरी, पार्षद श्याम सुंदर अग्रवाल, संजय गोयल, भाजपा के प्रदेश संगठन मंत्री सिद्धार्थन व सोनू कुमार सहित कई नेता एबीवीपी के समर्थन में पहुंचे। कांग्रेस से जिलाध्यक्ष गुरचरण ¨सह राजू, पार्षद कुमारी ¨रकू, पूर्व पार्षद वरयाम कौर एनएसयूआइ के समर्थन में पहुंचे।

कोर्ट के आदेश के बाद कम हुआ आचार संहिता का उल्लंघन

दिल्ली उच्च न्यायालय के सख्त निर्देश के बाद भी छात्र संगठनों ने चुनाव में आचार संहिता का उल्लंघन किया, लेकिन कोर्ट के आदेश का असर भी देखने को मिला। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष छात्र संगठनों ने सड़कों पर कम पर्चे उड़ाए। आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों से पुलिस व कॉलेज प्रशासन सख्ती से निपटा। कॉलेज के बाहर फ्लाईओवर तक पर पुलिस तैनात थी।

कॉलेजों में सुरक्षा व्यवस्था रही चाक चौबंद

चुनाव के मद्देनजर सभी कॉलेजों में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद देखने को मिली। कॉलेज के अंदर और बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस के आला अधिकारियों ने खुद सुरक्षा की कमान संभाली। पुलिस ने बाहरी व्यक्तियों को कॉलेज में जाने नहीं दिया। जिसने चुनाव में माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की पुलिस उससे सख्ती से पेश आई। एसीपी सुबोध कुमार गोस्वामी ने सुबह 8 बजे ही अंबेडकर कॉलेज में पुलिस बल तैनात कर दिया था। चुनाव संपन्न होने तक वे खुद कॉलेज में ही रहे। उन्होंने कहा कि चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुए।

Posted By: Jagran