नोएडा (ललित विजय)। आम जनता की समस्या समाधान और सहयोग तथा सुझाव से पुलिसिंग को बेहतर करने के लिए बनाए गया एसएसपी नोएडा का ट्विटर हैंडल निष्क्रिय हो गया है। एसएसपी किरण एस का 1 जून को तबादला हुआ था। 2 जून को आखरी मैसेज ट्विटर पर पोस्ट किया गया।

इसके बाद से एसएसपी नोएडा के ट्विटर हैंडल पर किए जाने वाले मैसेज पर कोई जवाब नहीं आ रहा है। साथ ही आम जनता की ओर से भेजे जाने वाली समस्या पर भी कोई जवाब नहीं दिया जा रहा है। किरण एस के स्थान पर धर्मेंद्र सिंह यादव गौतमबुद्धनगर के एसएसपी बनाए गए हैं।

...तो अब जीबीएन पुलिस ट्विटर हैंडल है सक्रिय

एसएसपी नोएडा का ट्विटर हैंडल निष्क्रिय होने की जानकारी संवाददाता ने यूपी पुलिस के ट्विटर हैंडल पर मैसेज पोस्ट कर दी। यूपी पुलिस की तरफ से इस मसले पर जांच के बाद जवाब देने का मैसेज आया।

कुछ समय बाद जीबीएन पुलिस के ट्विटर हैंडल से मैसेज आया कि अब नोएडा पुलिस का सक्रिय ट्विटर हैंडल जीबीएन पुलिस नाम से है। हालांकि यह ट्विटर हैंडल काफी समय पहले से चल रहा है, लेकिन इसपर आम जनता की सक्रियता नहीं है।

हैरानी की बात यह है कि नोएडा पुलिस की ओर से इस ट्विटर हैंडल पर सिर्फ गुडवर्क की जानकारी दी जा रही है। ट्विटर हैंडल की जानकारी आम जनता तक पहुंचाने के लिए भी पुलिस की ओर से कोई प्रयास नहीं हो रहे हैं।

हाइटेक शहर होने के कारण तेजी से पॉपुलर हो गया था एसएसपी का ट्विटर हैंडल

नोएडा को यूपी का शो विंडो भी माना जाता है। यहां दर्जनों मल्टी नेशनल कंपनियां हैं, जिसमें काम करने वालों के साथ नोएडा में रहने वाले भारी संख्या में लोग ट्विटर पर बेहद सक्रिय हैं। इसी कारण फरवरी में जब नोएडा एसएसपी का ट्विटर हैंडल बना तो वह तेजी से पॉपुलर हो गया।

दो माह में ही इसके फालोवर की संख्या 2146 हो गई। साथ ही आम जनता की ओर से लगातार समस्या और सुझाव भी आने लगे थे।

मुख्यमंत्री और डीजीपी की तरफ से भी ट्विटर पर समस्या समाधान के मिलते थे निर्देश

ट्विटर पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और डीजीपी जावीद अहमद बेहद सक्रिय हैं। नोएडा में रहने वाले कई लोग ट्विटर पर मुख्यमंत्री और डीजीपी से सीधी शिकायत कर देते हैं। एसएसपी नोएडा का ट्विटर हैंडल सक्रिय रहने के दौरान मुख्यमंत्री और डीजीपी की ओर से समस्या एसएसपी को भेजकर तत्काल समाधान के निर्देश दिए जाते थे।

इस तरह के कई लोगों की समस्याओं का समाधान भी हुआ। अब एसएसपी नोएडा के ट्विटर हैंडल पर लोग समस्याएं तो बता रहे हैं लेकिन उसपर कोई रिस्पांस नहीं मिल रहा है। नोएडा पुलिस के बेहतर काम को भी पूरी दुनिया तक पहुंचाने में एसएसपी नोएडा का ट्विटर हैंडल बेहद कारगर साबित हो रहा था।

वहीं, सुजीत पांडेय(आइजी मेरठ जोन) का कहना है कि 'नोएडा में नए एसएसपी आए हैं। वह अभी सिस्टम को समझ रहे हैं। उन्हें ट्विटर पर भी सक्रिय होने के लिए निर्देशित किया जाएगा। नोएडा में हाई-प्रोफाइल लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है। साथ ही ट्विटर और सोशल साइट्स का इस्तेमाल करने वालों की संख्या भी बहुत ज्यादा है। नोएडा पुलिस की छवि को बेहतर करने और लोगों के सुझाव जानने का ट्विटर अच्छा माध्यम है। इसपर सक्रियता बढ़ाने को एसएसपी को बोला जाएगा।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस