जागरण संवाददाता, बाहरी दिल्ली:

प्रशासन की ओर से एक तरफ जहां कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर किसानों को मुआवजा देकर जल्द से जल्द एनएच 344एम (यूईआर-2) का निर्माण शुरू करवाने की पहल भी की जा रही है।

इसी कड़ी में उत्तर-पश्चिमी जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) संदीप मिश्रा ने सोमवार शाम को रानीखेड़ा गांव के दो किसानों को मुआवजे के चेक दिए। कंझावला स्थित दफ्तर में उन्होंने कहा कि यूईआर-2 के निर्माण के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) की ओर से कराला, मजरी, रानीखेड़ा, रसूलपुर, मदनपुर डबास आदि गांवों की जमीन अधिग्रहित की गई है। किसानों को मुआवजा देना शुरू कर दिया है। अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (एडीएम) अमित कुमार ने कहा कि जिन दो किसानों के जमीन के दस्तावेज पूरे थे, उन्हें मुआवजा दे दिया गया है। उन्होंने किसानों से अपील की कि जिनके दस्तावेज पूरे नहीं हैं वह जल्द से जल्द अपने दस्तावेज पूरे करें और मुआवजा राशि लेकर जाएं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस