नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) का जलवा कायम है। राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर 23 जून को हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर अपना परचम लहराया है। उपचुनाव में आप के उम्मीदवार दुर्गेश पाठक ने 11 हजार 468 मतों से जीत दर्ज की है।

दुर्गेश पाठक की जीत से आम आदमी पार्टी के कार्यालय पर जश्न का माहौल है। कार्यकर्ता एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर और ढोल-बाजे के साथ डांस कर अपनी खुशी का इजहार किया। वहीं, जीत के बाद आप कार्यकर्ताओं ने जय श्रीराम के नारे भी लगाए। 

आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी दुर्गेश पाठक ने अपने प्रतिद्वंदी भाजपा के उम्मीदवार राजेश भाटिया को शिकस्त दी है। काउंटिंग रविवार सुबह आठ बजे से शुरू हुई थी। मतगणना में वह शुरुआत से ही बढ़त बनाए हुए थे। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा के इस्तीफे से खाली हुई इस सीट पर हुए उपचुनाव में 'आप' ने जीत की हैट्रिक लगाई है।

बता दें कि आम आदमी पार्टी के दुर्गेश पाठक को कुल 40 हजार 319 मत मिले। वहीं, भाजपा प्रत्याशी राजेश भाटिया 28 हजार 851 मत ही अपनी झोली में डाल पाएं। तीसरे स्थान पर कांग्रेस पार्टी प्रत्याशी प्रेमलता ने 2,014 मत हासिल किए। हालांकि वह अपनी जमानत भी नहीं बचा सकीं। जबकि 546 लोगों ने नोटा का बटन दबाया था।

कौन हैं दुर्गेश पाठक 

आम आदमी पार्टी ने दुर्गेश पाठक पर दांव लगाया है। इन्होंने 2020 में करावल नगर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था, लेकिन भाजपा के मोहन सिंह बिष्ट ने हरा दिया। दुर्गेश मार्च 2017 तक पंजाब में पार्टी के इंचार्ज थे। वह दिल्ली में यूपीएससी की तैयारी करने आए थे, लेकिन 2011 में जन लोकपाल आंदोलन से जुड़ गए। इसके बाद वो आम आदमी पार्टी में जुड़ गए।

उल्लेखनीय है कि इस उपचुनाव के लिए 23 जून को मतदान हुआ था। कुल 43.75 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया है। इसके तहत 43.67 प्रतिशत पुरुष व 43.86 प्रतिशत महिला मतदाताओं ने मतदान किया है। निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के अनुसार 25 जून को दोपहर दो बजे तक 246 पोस्टल बैलेट व पांच इलेक्ट्रानिक पोस्टल बैलेट प्राप्त हुए थे।

CM केजरीवाल ने जताया जनता आभार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस जीत को लेकर राजेंद्र नगर की जनता का आभार जताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "राजेंद्र नगर के लोगों का दिल से आभार। दिल्ली के लोगों के इस अथाह स्नेह और प्रेम का मैं आभारी हूं। यही हमें और मेहनत एवं सेवा करने की प्रेरणा देता है। लोगों ने उनकी गंदी राजनीति को हराया और हमारे अच्छे काम को सराहा। शुक्रिया राजेंद्र नगर, शुक्रिया दिल्ली।"

राजेश भाटिया (भाजपा के उम्मीदवार)

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (Delhi University Students Union) से अपनी राजनीति शुरू करने वाले भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी राजेश भाटिया वरिष्ठ नेताओं में शुमार हैं। अपने इलाके में बेहद लोकप्रिय राजेश भाटिया ने दिल्ली विश्वविद्यालय से बी काम किया है। वह डूसु में 1982-83 तक सेंट्रल काउंसलर (Centeral Councillior DUSU 1982-83) भी रहे हैं, जिसे प्रत्येक कालेज के चुने गए काउंसर चुनते हैं।

राजेंद्र नगर सीट पर बड़ी संख्या में पंजाबी समुदाय के लोग रहते हैं, जो एक तरह से निर्णायक की भूमिका में रहते हैं। यही वजह है कि भाजपा ने राजेश भाटिया को बतौर पंजाबी उम्मीदवार उतारकर आम आदमी पार्टी को कड़ी चुनौती देने की तैयारी की है। इससे पहले AAP ने प्रत्याशी राघव चड्ढा ने दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 में बेहद आसानी से जीत हासिल की थी। अब परिणाम के बाद स्थिति साफ हो जाएगी।

प्रेम लता (कांग्रेस उम्मीदवार)

कांग्रेस की उम्मीदवा प्रेमलता की पहचान क्षेत्रीय नेता के रूप में है। वह इसी विधानसभा क्षेत्र के दसघरा गांव की रहने वाली हैं। प्रेम लता पूसा वार्ड से निगम पार्षद रह चुकी हैं।

Indian Railway News: दिल्ली से बिहार आने-जाने वाली ट्रेनों में टिकटों की मारामारी, चल रही है लंबी वेटिंग

Edited By: Abhishek Tiwari