नोएडा। कोहरे के चलते सोमवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी दादरी स्थिति शिवनाडर विश्वविद्यालय में अपने तय कार्यक्रम से करीब ढेड़ घंटे विलंब से पहुंचे। राष्ट्रपति ने शिवनाडर विश्वविद्यालय में फैकल्टी रिहायशी परिसर का उद्घाटन किया। कार्यक्रम स्थल पर उनकी अगवानी उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक एवं प्रदेश के राज्यमंत्री शाहिद मंजूर समेत यूनिवर्सिटी प्रबंधन के आला अफसर मौजूद रहे।

फैकल्टी में छात्रों से मुखातिब होने के दौरान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि 1950 में 20 यूनिवर्सिटी थी और आज 720 यूनिवर्सिटी है। यह देश में शिक्षा में बदलाव का प्रतीक है।

वहीं, राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने उच्च शिक्षा के स्तर पर चिंता भी जाहिर की। उन्होंने कहा कि भारतीय विश्वविद्यालय अंतरराष्ट्रीय मानक पर खरे नहीं उतर रहे हैं। इस मौके पर महामहि ने नालंदा और तक्षशिला की उपलब्धियों को याद किया।

राष्ट्रपति ने फैकल्टी परिसर के उद्घाटन से पहले विश्वविद्यालय में कदंब का पौधा भी लगाया। इस मौके पर अपने संबोधन में प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक ने कहा कि भारतीय विश्वविद्यालयों में इनोवेटिव सोच और शोध में रुचि का अभाव है। राज्यपाल ने कहा कि नालन्दा और तक्षशिला की तरह देश का कोई विश्वविद्यालय समूचे विश्व में अपनी पहचान नहीं बना सका है।

राष्ट्रपति कार्यक्रम में देरी से पहुंचें। पहले राष्ट्रपति का दोपहर 12 बजे विश्वविद्यालय पहुंचने का कार्यक्रम था, लेकिन कोहरे के चलते वह एक घंटे से भी अधिक देरी से समारोह स्थल पर पहुंचे।

सफेद रंग का बना है पंडाल

राष्ट्रपति के आगमन के दौरान सफेद रंग का बनाया गया है। सुरक्षा के मद्देनजर पंडाल के बाहरी हिस्सों को बेरिकेड किया गया है। पंडाल के बीच में विशाल स्टेज भी बनाया गया है। यहां से राष्ट्रपति फैकल्टी बिल्डिंग का उद्घाटन करेंगे।

तैयारी पूरी

विश्वविद्यालय में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के आगमन पर सुरक्षा को लेकर पूरी तैयारी है। राष्ट्रपति की सुरक्षा में विवि के आसपास करीब डेढ़ हजार पुलिस कर्मियो का सुरक्षा कवच तैयार किया गया है। रविवार दोपहर पुलिस व प्रशासन के अधिकारियो ने अंतिम रिहर्सल भी किया था।

रिहर्सल इतनी चुस्त दिखी थी कि परिंदा भी पर न मार सके
रिहर्सल के दौरान आईजी मेरठ मंडल आलोक शर्मा, एसएसपी किरण एस, सीडीओ माखन लाल गुप्ता, एसडीएम दादरी राजेश कुमार सहित पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी मौजूद रहे।

सड़क मार्ग से आ सकते हैं राज्यपाल

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के अगुवाई के लिए प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक के सड़क मार्ग से शिवनाडर विश्वविद्यालय पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है। हालांकि, सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस के आलाधिकारी व विश्वविद्यालय प्रशासन इस बारे में अधिक जानकारी देने से बच रहे हैं। हेलीकाप्टर के लैंडिंग के लिए दो हेलीपैड बनाए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने फिर किया जनपद से किनारा

जनपद में दूसरी बार राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी किसी कार्यक्रम में हिस्सा लेने आ रहे हैं, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री ने एक बार फिर यहां आने से खुद को किनारा किया है। दिसंबर में आयोजित प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में भी मुख्यमंत्री यहां नही आए थे।

उनके प्रतिनिधि ने प्रधानमंत्री की अगुवाई की थी। इस बार भी उनके प्रतिनिधि के रूप में श्रम एवं सेवायोजन मंत्री शाहिद मंजूर राष्ट्रपति की अगुवाई करेंगे। परिवहन मंत्री यासर शाह का कार्यक्रम अचानक बदल दिया गया है।

विवि के समीप सुरक्षा कवच तैयार

शिवनाडर विवि के समीप पुलिस ने सुरक्षा कार्यक्रम तैयार कर लिया है। पुलिस को विश्वविद्यालय परिसर में तैनात कर दिया गया है। वैध पास होने के बाद ही लोगो को कार्यक्रम में प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश पाने वाले लोगो को विभिन्न प्रकार के सुरक्षा जांच से गुजरना होगा।

Posted By: JP Yadav