नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली-एनसीआर में दिवाली की रात का नजारा बेहद खौफ रहा है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सुप्रीम कोर्ट के सख्त आदेश के बावजूद दिवाली की रात दिल्ली में 50 लाख किलो से ज्यादा पटाखे जलाए गए। जानकारी के मुताबिक, दिवाली की रात  एक बजे के आसपास प्रदूषण के सबसे खतरनाक कण पीएम 2.5 का स्तर कई जगहों पर 2500 तक पहुंच गया, जबकि इसे 60 से ज्यादा नहीं होना चाहिए। वहीं, दिल्ली में बृहस्तिवार सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) बेहद गंभीर स्थिति में पहुंच गया। 

कुछ ऐसी ही स्थिति शुक्रवार को भी है। एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) के मुताबिक, दिल्ली के आनंद विहार में 585, दूतावास क्षेत्र में 467 और आरके पुरम में 343 है, जो बेहद खतरनाक श्रेणी में आता है। 

दिल्ली-एनसीआर में ज्यादातर इलाकों में शुक्रवार सुबह स्मॉग छाया हुआ है। लोग मास्क लगाकर मॉर्निंग वॉक करने के लिए निकले। 

यहां पर बता दें कि अब आकड़े भी गवाही दे रहे हैं कि बिक्री पर सुप्रीम कोर्ट के प्रतिबंध के बावजूद दिवाली की रात दिल्ली-एनसीआर में जमकर पटाखे जलाए गए। इसी का नतीजा रहा कि गुरुवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) बेहद गंभीर स्थिति में पहुंच गया। लोगों ने रात दस बजे तक पटाखे चलाने की सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय की गई समयसीमा का भी पालन नहीं किया। नतीजा यह रहा कि रात 11 बजे से तड़के तीन बजे तक लोगों को घर के अंदर एयर प्यूरिफायर से भी चैन नहीं मिला।

सफर इंडिया के अनुसार, एनसीआर में अगले दो दिनों तक एक्यूआइ खतरनाक श्रेणी में रहने की आशंका है। एहतियातन दिल्ली में बाहरी ट्रकों के प्रवेश पर बृहस्पतिवार रात 11 बजे से रविवार रात 11 बजे तक प्रतिबंध लगा दिया गया है। दिल्ली में सबसे अधिक प्रदूषण रात एक बजे रहा।

कई जगहों पर तो प्रदूषण मापने वाली मशीनों ने भी काम करना बंद कर दिया। वजीरपुर में पीएम (पर्टिकुलेट मैटर) 2.5 का स्तर सामान्य से 77 गुना अधिक 4689 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर (एमजीसीएम) पहुंच गया। इसकी सामान्य मात्रा 60 एमजीसीएम है। विवेक विहार, वजीरपुर, पूसा, मंदिर मार्ग और आरके पुरम समेत कुछ सेंटर तो उस समय ठीक से रीडिंग ही नहीं दे सके। पीएम-10 का स्तर भी 22 से 24 गुना तक अधिक रहा। जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में रात एक बजे पीएम-10 का स्तर 2498 एमजीसीएम था। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति के अनुसार, जहांगीरपुरी, अशोक विहार, नेहरू नगर, वजीरपुर, आनंद विहार, पंजाबी बाग, आरके पुरम में पीएम-10 का स्तर 1000 एमजीसीएम से अधिक रहा।

2017 में सुधरे थे कुछ हालात

 2016 की दिवाली पर एयर इंडेक्स 426 रहा था, जबकि 2017 में सुप्रीम कोर्ट की सख्ती से यह कम होकर 329 पर आ गया था। लेकिन, इस साल यह फिर से बढ़कर 390 पहुंच गया।

पटाखे चलाने पर 323 लोग गिरफ्तार
सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अनुपालन नहीं करने पर दिल्ली पुलिस ने दिवाली की रात कुल 579 लोगों के खिलाफ धारा-188 के तहत केस दर्ज किया। इनमें 323 लोगों की गिरफ्तारी भी हुई। सफर इंडिया ने जारी की एडवाइजरी सफर इंडिया ने हेल्थ एडवाइजरी में कहा है कि सामान्य लोगों के साथ-साथ सांस के मरीजों को बाहरी हवा के संपर्क से बचना चाहिए। यह उन्हें बीमार बना सकती है। खासतौर से फेफड़ों और आंखों को ज्यादा नुकसान होता है। 

वहीं, पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए, चेयरमैन) ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लेकर जनता को जागरूक करने की जरूरत थी। सरकारों और सरकारी विभागों को भी निष्क्रियता छोड़नी होगी।

Posted By: JP Yadav