नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। जेठ के महीने में आग उगलता सूरज और उमस दोनों ही दिल्ली वासियों के लिए परेशानी का सबब बन रहे हैं। अब तो दिन के साथ-साथ रातें और सुबह भी गर्म होने लगी हैं। बृहस्पतिवार सुबह से ही दिल्ली-एनसीआर के मौसम में उमस और गर्मी है। सुबह दफ्तरों के लिए घरों से निकले लोग पसीने से तर नजर आए। प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में इन दिनों कम दबाव वाला क्षेत्र बन रहा है। इसका असर शनिवार से अगले तीन दिनों में दिल्ली-एनसीआर में बारिश के रूप में देखने को मिल सकता है। दिल्ली में 12 से 14 जून तक बारिश के आसार बने हुए हैं। कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक, यह पहली बार है जब 2014 के बाद से अब तक एक भी बार जून में लू नहीं चली है। संभावना है कि आगे भी लू नहीं चलेगी।

बुधवार को न्यूनतम तापमान 31 के आंकड़े को भी पार कर गया, जो इस सीजन का सर्वाधिक है। अगले 24 घंटों में भी शुष्क मौसम की वजह से दिल्ली- एनसीआर वासियों को तपती गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।दिल्ली ही नहीं, समूचे एनसीआर में गर्मी का सितम बढ़ रहा है। दिन के हालात ऐसे हैं कि अनलाक होने के बावजूद सड़कों पर बहुत भीड़ नहीं होती। बुधवार को भी पारा चढ़े रहने से दिनभर लोगों का बुरा हाल रहा। शाम को सूरज ढलने के बाद भी लोगों को राहत नहीं मिली। शुष्क मौसम व गर्म हवाओं के कारण लोगों की मुसीबतें बढ़ी रही।

मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार को राजधानी में अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 42.2 व न्यूनतम तापमान सामान्य से चार अधिक 31.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पीतमपुरा इलाका 44.3 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म इलाका दर्ज किया गया। इसके अलावा पालम में 42.1, लोदी रोड में 42 और मुंगेशपुर में 43.7 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 29 से 57 फीसद दर्ज हुआ।

बहुत खराब श्रेणी में पहुंची दिल्ली-एनसीआर की हवा

दिल्ली में गर्मी के साथ-साथ हवा की बिगड़ती दिशा ने भी लोगों की मुसीबतें बढ़ा रखी हैं। पिछले 24 घंटों में दिल्ली-एनसीआर की हवा बहुत खराब श्रेणी में दर्ज की गई है। अगले 24 घंटों में भी हवा की स्थिति में सुधार नहीं होने की संभावना है। एनसीआर में केवल गुरुग्राम की हवा औसत श्रेणी में दर्ज हुई। अनलाक होते एनसीआर में वाहनों की बढ़ती संख्या भी दिन ब दिन हवा को प्रदूषित किर रही है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के मुताबिक बुधवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 305 दर्ज किया गया। फरीदाबाद का 280, गाजियाबाद का 300, गुरुग्राम का 182, ग्रेटर नोएडा 338 व नोएडा का 347 दर्ज किया गया। प्रादेशिक मौसम विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक राजस्थान से आने वाली धूल भरी हवाएं दिल्ली के वातावरण को प्रदूषित कर रही हैं। इसका दौर आगामी शुक्रवार तक जारी रहेगा। आगामी 12 जून के आसपास होने वाली बारिश की संभावना को देखते हुए प्रदूषण के स्तर में कमी आ सकती है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप