नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। प्रगति मैदान में आयोजित तीन दिवसीय एवरीथिंग अबाउट वाटर एक्सपो-2022 (Everything About Water Expo 2022) में जल क्षेत्र में काम करने वाली संस्थाएं, कंपनी और विशेषज्ञ चुनौतियों और उसके समाधान पर चर्चा कर रहे हैं।

जल प्रबंधन, जलापूर्ति के दौरान पानी की बर्बादी, अपशिष्ट जल उपचार और उसका फिर से उपयोग, खारा व गंदा पानी को साफ कर पीने योग्य बनाने, जल वितरण की ऑनलाइन निगरानी से संबंधित इजरायल की आठ कंपनियां एक्सपो में भागीदारी कर रही हैं।

पाइप लाइन का क्षतिग्रस्त होना पानी की बर्बादी का बड़ा कारण

दिल्ली सहित भारत पूरे भारत में पानी की बर्बादी बहुत बड़ी समस्या है। जलशोधन संयंत्र और जलाशय से घरों तक पहुंचने के दौरान बहुत ज्यादा मात्र में पानी की बर्बादी होती है।

इसका सबसे प्रमुख कारण पाइप लाइन का क्षतिग्रस्त होना है। उचित रखरखाव के अभाव में यह समस्या आती है। क्षतिग्रस्त पाइप लाइन की पहचान कर उसे ठीक करना बड़ी चुनौती है।

सही तरह से निगरानी न होने, कर्मचारियों की कमी और दूरदराज के इलाके में इसका पता न चलने से ही पानी बर्बाद होता है। अक्सर सही तरह से मरम्मत न होने से पाइप लाइन से रिसाव होता रहता है। इससे शहर में काफी संख्या में लोगों तक पेयजल नहीं पहुंच पाता है। साथ ही क्षतिग्रस्त पाइप लाइन के कारण पानी भी दूषित हो जाता है।

आधुनिक तकनीक से हो सकता है इस समस्या का समाधान

इजरायल के विशेषज्ञों का कहना है कि आधुनिक तकनीक से इस समस्या का समाधान हो सकता है। इस दिशा में वहां की कई कंपनियां काम भी कर रही हैं। एक्सपो में शामिल रियलटेक कंपनी ऑनलाइन जल वितरण नेटवर्क की निगरानी की सुविधा उपलब्ध कराती है।

इससे संबंधित अधिकारी या कर्मचारी को उसके लैपटाप या मोबाइल पर रियल टाइम डेटा उपलब्ध होता है। कहीं पर जलापूर्ति में परेशानी आने या रिसाव होने पर तुरंत जानकारी मिल जाती है जिससे उसे समय रहते दुरुस्त कर पानी की बर्बादी को रोका जा सकता है।

40 देश में किया जा रहा इस तकनीक का इस्तेमाल

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रैन केडेम का कहना है कि 40 देश में इस तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। मैक्सिको स्टेट में जल बर्बादी की गंभीर समस्या थी। लगभग 50 प्रतिशत पानी रिसाव के कारण बर्बाद हो जाता था।

ऑनलाइन निगरानी से यह समस्या दूर की गई है। पानी के रिसाव की समस्या दूर करने के लिए कूरा पाइप नाम की कंपनी भी अपनी सेवा उपलब्ध करा रही है।

Edited By: Abhishek Tiwari