रेवाड़ी [केके यादव]। सामान की ऑनलाइन पेमेंट करने का झांसा देकर एक शातिर ठग ने तिहाड़ जेल में तैनात एक डाॅक्टर के खाते से हजारों रुपये की नकदी निकाल ली। मोबाइल पर मैसेज आने के बाद उन्हें खाते से पैसे निकलने के बारे में पता लगा।

डॉक्टर की ओर से रामपुरा थाना पुलिस को शिकायत दी गई है, परंतु अभी इस मामले में पुलिस ने एफआइआर दर्ज नहीं की है।

बैंक खाते में ट्रांसफर की गई राशि

शहर के बेरली मोड़ निवासी साहिल जांगड़ा वर्तमान में तिहाड़ जेल में डाक्टर है। उन्होंने ओएलएक्स की वेबसाइट पर एक सोफा सेट बिक्री के लिए विज्ञापन दिया हुआ था। एक व्यक्ति ने उनसे सोफा सेट खरीदने के लिए संपर्क किया और ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए अकाउंट नंबर मांगे। उन्होंने भीम एप के जरिए पैसे ट्रांसफर करने के लिए कहा, परंतु अकाउंट में पेमेंट नहीं आई। इसके बाद सोफा खरीदने वाले ने डॉ साहिल जांगड़ा को एक लिंक भेजा और उसमें पिन नंबर आदि डालने के लिए कहा। लिंक खोलने और पिन नंबर डालने के बाद उनके खाते से पैसे कटने शुरू हो गए। वह कुछ समझ पाते इससे पहले ही चार बार में उनके खाते से 81 हजार 799 रुपये कट गए।

साइबर सेल कर रही मामले की जांच

शातिर ठग द्वारा उनका मोबाइल हैक कर खाते से सारी नकदी निकाल ली गई। उनके खाते से ऑनलाइन दिल्ली में एक बैंक खाते में सारी नकदी ट्रांसफर की गई है। ठगी का अहसास होने के बाद उन्होंने अपना अकाउंट ब्लॉक कराया और रामपुरा थाना पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने मामला जांच के लिए साइबर सेल को सौंपा है। अभी इस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं हो पाई है।

रामपुरा थाना प्रभारी विनोद कुमार ने कहा कि ऑनलाइन ठगी का यह मामला है जिसकी गंभीरता से जांच की जा रही है। साइबर सेल से इसकी जांच कराई जा रही है। प्रयास रहेगा कि शीघ्रता से आरोपित तक पहुंचा जाए।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस