जागरण संवाददाता, पूर्वी दिल्ली :

गीता कॉलोनी इलाके में एक शख्स ने खुद को बीएसईएस का कर्मचारी बताकर एक उपभोक्ता से एक लाख रुपये ठग लिए। दरअसल पीड़िता का करीब डेढ़ लाख रुपये का बिजली का बिल बकाया था। आरोपित ने इस मामले को एक लाख रुपये में निपटाने का भरोसा दिया। लेकिन इसके बाद वह गायब हो गया। पीड़िता मुनव्वर ने इस मामले में थाने में शिकायत दी थी। इस पर पुलिस ने अब मामला दर्ज कर लिया है।

मुनव्वर अपने पति के साथ शास्त्री नगर इलाके में रहती हैं। 10 दिसंबर 2018 तक उनका बिजली का बिल ब्याज समेत 1.58 लाख रुपये पहुंच गया था। जनवरी, 2019 में यासीन नामक शख्स उनके घर पहुंचा था। उसने खुद को बीएसईएस का कर्मचारी बताया। साथ ही दंपती से कहा कि वह बीएसईएस से उनका समझौता कराकर बकाया माफ करा देगा। इसके एवज में उसने एक लाख रुपये की मांग की। आरोपित ने तीन बार में उनसे एक लाख रुपये ले लिए। इसके बाद उनके घर जाकर उन्हें एक रसीद देकर कहा कि उनका बकाया खत्म हो गया है। जल्द उन्हें बीएसईएस से अनापत्ति प्रमाण पत्र मिल जाएगा। इसके करीब 11 महीने बाद नवंबर 2019 में पीड़ित के घर बीएसईएस से दो पत्र पहुंचे, जिसमें बताया गया कि उनका बकाया खत्म नहीं हुआ है। पीड़ित आरोपित द्वारा दी गई रसीद को लेकर बीएसईएस के कार्यालय पहुंचे तो पता चला कि ये फर्जी है। बीएसईएस के अधिकारियों ने उन्हें यासीन के खिलाफ पुलिस में शिकायत देने के लिए कहा। इस पर पीड़ित ने थाने में शिकायत दी। इस शिकायत पर पुलिस ने अब मामला दर्ज किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस