नई दिल्ली। जिस युवती की कुछ दिनों बाद शादी होने वाली थी उससे गाजे के नशे में एक युवक ने दुष्कर्म किया। हत्या के खुलासे के डर से उसने युवती को गला दबाकर मार डाला। इतना ही नहीं, दरिंदगी की सीमा करते हुए उसने उस युवती का शव नग्न अवस्था में फेंक दिया।

पहले किया गैंग रेप, फिर नाले में डुबोकर मारने का प्रयास

पुलिस ने जांच में इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस की मदद ली, जिससे उसके घटनास्थल पर होने की पुष्टि हुई। आरोपी सिद्धार्थ को गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा, सिद्धार्थ की निशानदेही पर साथी 14 वर्षीय किशोर को भी पकड़ लिया गया। युवती की हत्या में यह किशोर भी शामिल है।

दिल्ली फिर शर्मसारः महिलाओं से दुष्कर्म मामलों में पांचवें स्थान पर

पुलिस के खुलासे से हर कोई हैरान है। युवती की शादी तय हो चुकी थी और कुछ दिनों बाद ही उसकी शादी होने वाली थी। पुलिस ने हत्या का खुलासा कर शातिर अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, यह बेहद शातिर अपराधी है।

इससे पहले इसी साल जनवरी में शातिर ने पड़ोस में ही रहने वाली किशोरी को बंधक बनाकर रात भर दुष्कर्म किया था। इसी मामले में वह हाल ही में जमानत पर जेल से बाहर आया था।

सुनसाथ रास्ते में किया दुष्कर्म

गौरतलब है कि अमन विहार इलाके में 21 अगस्त को को नग्न अवस्था में 23 वर्षीय युवती का शव मिला था।पुलिस पूछताछ में आरोपी युवक सिद्धार्थ ने बताया कि गांजे के नशे में नाबालिग के साथ मिलकर सुनसान रास्ते पर युवती को दबोच कर दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या की थी।

उसी सुबह एक पड़ोसी ने घर आकर बताया कि उसकी बेटी की पढ़ाई से संबंधित कागज सड़क पर बिखरे पड़े हैं। खोजते हुए वे झाड़ियों में बेटी के शव तक पहुंच गए। जिला स्पेशल स्टॉफ के इंस्पेक्टर केपी मलिक, एएसआइ अनिल कुमार व अन्य की टीम जांच के दौरान इलाके में ही रहने वाले सिद्धार्थ तक पहुंच गई।

उग्र प्रदर्शन किया था लोगों ने

घटना के बाद स्थानीय लोगों में काफी रोष था। लोगों ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में सिद्धार्थ और नाबालिग आरोपी ने भी सक्रिय भूमिका निभाई। युवती राजौरी गार्डन स्थित एक एनजीओ में काम करती थी। उसके परिवार में माता-पिता व एक छोटा भाई है। बड़ी बहन की शादी हो चुकी है।

उसकी कमाई से चलता था घर का गुजारा

पिता और उसकी कमाई से ही घर का गुजारा होता था। युवती अमूमन शाम 8 बजे तक घर लौट आती थी, परंतु घटना की रात वह नहीं लौटी। वह अक्सर बहन के घर रात रुक जाती थी। इसके चलते पिता ने उसके न आने पर ज्यादा पड़ताल नहीं की।

Posted By: JP Yadav